प्रियंका ने अब लखीमपुर पर मोदी को घेरा, टेनी भी जाएंगे जल्द!

प्रियंका ने अब लखीमपुर पर मोदी को घेरा, टेनी भी जाएंगे जल्द !

प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर लखीमपुर जनसंहार के मुख्य आरोपी के पिता और मंत्री के पद पर बने रहने को मुद्दा बनाया। टेनी भी होंगे वापस।

कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन काले कृषि कानूनों की वापसी का एलान किया, लेकिन आज प्रियंका गांधी के पत्र से यूपी की राजनीति फिर से गरमा गई। प्रियंका गांधी ने लखीमपुर जनसंहार के मुख्य आरोपी के पिता और केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी के अबतक पद पर बने रहने को मुद्दा बनाया। किसान एकता मोर्चा ने भी एक पोस्टर शेयर किया, जिसमें लखीमपुर के जिलाधिकारी ने टेनी को चीनी मिल के कार्यक्रम के उद्घाटन के लिए आमंत्रित किया है। इसके साथ ही यूपी की राजनीति में भाजपा की परेशानी बढ़ गई और अटकलों का बाजार गर्म हो गया। यह चर्चा चल निकली कि तीन कानून वापस करने के बाद क्या प्रधानमंत्री अपने सहयोगी मंत्री टेनी को भी वापस लेंगे, पद से हटाएंगे।

आज प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में उन्हें घेरते हुए कहा-लखीमपुर किसान नरसंहार में अन्नदाताओं के साथ हुई पूर्णता को पूरे देश ने देखा। आपको यह जानकारी है कि किसानों को अपनी गाड़ी से कुचलने का मुख्य आरोपी आपकी सरकार के केंद्रीय गृह राज्य मंत्री का बेटा है। राजनीतिक दबाव के चलते इस मामले में उत्तरप्रदेश सरकार ने शुरुआत से ही न्याय की आवाज को दबाने की कोशिश की है। माननीय उच्चतम न्यायालय ने इस संदर्भ में कहा कि सरकार की मंशा देखकर लगता है कि सरकार किसी विशेष आरोपी को बचाने का प्रयास कर रही है।

माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यूपी चुनाव किसी भी तरह जीतना चाहते हैं। इसलिए वे टेनी को मंत्रिमंडल से बाहर कर सकते हैं।

इसके साथ ही चह चर्चा भी जोरों पर है कि प्रधानमंत्री मोदी रसोई गैस और पेट्रोल की कीमत कम करने की घोषणा कर सकते हैं। एक किसान आंदोलन ने सरकार को बैकफुट पर ला दिया है। पूर्वी यूपी में महंगाई, खाद की कमी, बेरोजगारी, आवारा पशु बड़े मुद्दे हैं। देखिए, चुनाव से पहले सरकार कितना पीछे हटती है। पीछे हटने में वह जितना देर करेगी, उतना ज्यादा नुकसान होगा।

राजद ने प्रधानमंत्री मोदी को अपशब्द कहने पर जताई आपत्ति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*