‘नबी रहमत’ और ‘सबके मुहम्मद’ से दिया पैगम्बर के अपमान का जवाब, ट्विटर पर हुआ ट्रेंड

‘नबी रहमत’#ProphetofCompassion  और ‘सबके मुहम्मद’ #ProphetForAll से दिया पैगम्बर के अपमान का जवाब, ट्विटर पर हुआ ट्रेंड

 

पैगम्बर मोहम्मद साहब के खिलाफ अपमानजनक हैशटैग ट्रेंड कराने वालों को मुसलमानों ने मुहब्बत से जवाब दे कर #ProphetofCompassion (नबी रहमत) और #ProphetForAll ट्रेंड करा दिया है.

ट्विटर पर पिछले तीन दिनों से पैगम्बर मोहम्मद साहब के खिलाफ अपमानजनक हैशटैग ट्रेंड कराया जा रहा था. इसकी शुरुआत तब हुई थी जब हिंदुत्ववादी नेता कमलेश तिवारी की हत्या कर दी गयी. इस हत्या मामले में कमलेश की मां कुसुम तिवारी और उनका बेटा सत्यम तिवारी ने खुले रूप में भाजपा के एक नेता का नाम लिया लेकिन इस मामले में कुछ मुसलमानों को गिरफ्तार कर लिया गया.

इस घटना के बाद कुछ समुहों ने पैगम्बर के खिलाफ ट्विट पर अपमान जनक शब्द ट्रेंड कराने लगे. लेकिन मुसलमानों ने इस परकिसी तरह की उत्तेजना जाहिर न की. बल्कि उन्होंने पैगम्बर साहब के नफरत के खिलाफ मुहब्बत की शिक्षा का सहारा लिया और #ProphetofCompassion (नबी रहमत) और  #ProphetForAll ट्रेंड करा दिया.

नफरत का जवाब मोहब्बत से

जेएनयू के चर्चित छात्र उमर खालिद ने भी दस ट्विट किये और उन्होंने पैगम्बर मोहमम्द साहब से जुड़ी उस घटना का उल्लेख किया जिसमें कहा गया है कि एक बूढी औरत हर रोज पैगम्बर साहब के घर के सामने कूड़ा फेक दिया करती थी. हर दिन मुहम्मद साहब उस कूड़े को खुद साफ कर दिया करते थे. लेकिन एक दिन उन्होंने देखा कि उनके रास्ते में उस औरत ने कूडा नहीं फेका. पैगम्बर साहब ने सोचा कि आखिर उस औरत को क्या हो गया. वह उस औरत के घर गये तो पता चला कि वह बीमार है. पैगम्बर साहब ने उसकी तीमारदारी की. इस एक रहमदिली से प्रभावित हो कर उस औऱत का दिल बिल्कुल बदल गया और उसने माफी मांग ली.

उमर खालिद के अलावा हजारों लोगों ने पैगम्बर मोहम्मद साहब के प्रेम और भाईचारे को संदेश को ट्विट करना शुरू किया और देखते ही देखते #ProphetofCompassion (नबी रहमत) और  #ProphetForAll ट्रेंड करा दिया.

संघमित्रा नामक ट्विटर हैंडल से सीधे भाजपा आईटी सेल को संबोधित करते हुए लिखा गया है कि आपकी नफरत का जवाब प्रेम से दिया गया. यह एक सेलेब्रेशन का समय है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*