Rahman’s 30 के वेबिनार में शामिल हुए हजारों लोग, अब zoom App से इंजीनियरिंग की तैयारी

देश के 30 टैलेंटेंड व आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए मुफ्त आईआईटी कोचिंग कराने वाले Rahman’s 30 ने अपने छात्रों को अब Zoom App पर पढ़ाई करायेगा.

आनंद कुमार के सुपर 30 की गाइडेंस में चलने वाले Rahman’s 30 ने इसकी शुरुआत अंतरराष्ट्रीय वेबिनार से की है जिसमें भारत व खास कर बिहार के लोगों के अलावा यूरोप, कनाडा, अमेरिका औरर मिडल ईस्ट के हजारों अभिभावकों व छात्रों ने शिरकत की.

रहमान 30(थर्टी) और डीपीएमआइ दरभंगा के सहयोग से ज़ूम ऍप्लिकेशन,फेसबुक
इंटरनेट ऑनलाइन के माध्यम से लॉकडाउन में हो रहे मनो वैज्ञानिक प्रभाव से उभरने के लिए लोगों को जानकारी दिया।

इंजीनियरिंग की फ्री कोचिंग के लिए रहमान्स 30 ने ली जांच परीक्षा

लॉकडाउन के दौरान में रहमान 30 ने कुछ योजनाएं बनाइ है,जिसमे पहला कार्यक्रम तनाव प्रबंधन (stress management) के लिए किया गया था जो की काफी सफल रहा। जिसमें इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट के प्रोफेसर डॉ. अशरफ रिज़वी आइ.आइ. एम ने 3 दिन का क्लास लिया रहमनस 30 अपने छात्रों को ऑनलाइन कक्षाकी व्यवस्था करा रहा है. चूंकि इस लॉकडाउन के कारण छात्र लगातार क्लास नही कर सकते है, इसीलिए उनके लिए ऑनलाइन कक्षाएं व्यवस्था की गई है।

डा. अमूल्य सिंह ने छात्रों व अभिभावकों को काफी प्रेरित किया

उसके अलावा जो छात्र इच्छुक है जो शिक्षा प्राप्त करना चाहते है उनको भी रहमान 30 मुफ्त ऑनलाइन शिक्षा प्रदान करेगा। इस योजना को आगे बढ़ाते हुए दूसरा कार्यक्रम वेबिनार का हुआ जिसमें दिल्ली पारामेडिकल एंड मैनेजमेंट इंस्टिट्यूट दरभंगा के साथ मिलकर किया गया हैं।

इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य ये है कि लॉकडाउन के दौरान मनो वैज्ञानिक प्रभाव (psychological effect of during lockdown) से लोग कैसे बचें? जो कि इस लॉक डाउन में मानसिक तनाव अधिक बढ़ रहे है।

डा. अहमद अली

इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता अमूल्य सिंह थे जो कि पटना के प्रसिद्ध और चर्चित ऑर्थोपेडिक सर्जन है। कार्यक्रम के दौरान लोगों को मनो वैज्ञानिक प्रभाव की भरपूर जानकारी दी गई।इस कार्यक्रम को संचालन मॉडरेटर प्रेरणा प्रताभ लेखक, पोएट, एंकर, डीडी बिहार ने किया।

यह कार्यक्रम केवल 1 घंटे का था जिसमे विश्व के विभिन्न देशों के लोगो ने ऑनलाइन ज़ूम ऐप से हज़ारों लोगों ने देखा और अपनी उपस्थिति दर्ज कराई इस कार्यक्रम में लोग गल्फ, अमेरिका,लंदन,इंग्लैंड कनाडा औऱ भारत आदि देशों से शामिल हुए।

प्रेरणा प्रताप ने कार्यक्रम का संचालन किया

लोगों को प्रश्नोत्तरी के लिए 45 मिनट का समय दिया गया जिसमें लोगों ने डॉक्टर साहब से प्रश्न पूछे और उन्हें उत्तर दिया गया। डॉक्टर अमूल्य सिंह ने बताया कि करोना एक ऐसी बिमारी है जिससे हमें लड़ना ही पड़ेगा और अपना मानसिक संतुलन इस तरीक़े का बनाना होगा ताकि आगे जो चुनौतियां है ख़ास कर आर्थिक चुनौतियां , शरीरिक चुनौती इन सब से निपटने के लिए हमें अपनी अपनी मानसिक शक्ति को बढ़ाना होगा और इसके लिए रेगुलर व्याम करना होगा और साथ मे आध्यात्मिकता का सहारा लेना होगा.


इस आयोजन का हिस्सा डीपीएमआइ दरभंगा भी रहा. डीपीएमआइ दरभंगा एक पारामेडिकल संस्था है जो कि 10वी और 12वी पास छात्रों को शिक्षा प्रदान करता है और उसे प्लेसमेंट देकर उसके कैरियर को संवारता है।

इस कार्यक्रम की अध्यक्षता ओबैदुर रहमान (अध्यक्ष रहमान30) और डॉ. अहमद अली (अध्यक्ष डीपीएमआइ, दरभंगा) ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*