भूख पर शायरी के जरिये राहुल – स्मृति की भिड़ंत

शायरी राजनीति की एक अदद जुबान मानी जाती है, जिसके जरिये पक्ष – विपक्ष एक दूसरे पर शब्दबाण चलाते हैं. एक बार फिर यही देखने को तब मिला जब, इंटरनेशनल फूड पॉलिसी रिसर्च इंस्टीट्यूट (आईएफपीआरआई) के मुताबिक और 119 देशों के वैश्विक भूख सूचकांक में भारत को 100वें पायदान पर ठिकाना मिला. इसको लेकर बीजेपी और कांग्रेस आपस आमने – सामने हो गयी.

नौकरशाही डेस्क

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने इस पर मशहूर शायर दुष्यंत कुमार के एक शेर का जिक्र करते हुए बीजेपी सरकार पर हमला बोला. उन्होंने लिखा –

भूख है तो सब्र कर,

रोटी नहीं तो क्या हुआ..

आजकल दिल्ली में है

जेरे-बहस ये मुद्दआ.

इसके बाद बीजेपी की ओर से भी राहुल गांधी के ट्वीट पर पलटवार हुआ और जवाब केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने दिया. उन्होंने लिखा –

ऐ सत्ता की भूख-सब्र कर

आंकड़े साथ नहीं तो क्या..

खुदगर्जों को जमा कर,

मुल्क की बदनामी का शोर तो मचा ही लेंगे.

बता दें कि ग्लोबल हंगर इंडेक्स में दिखाया जाता है कि दुनिया भर में भूख के खिलाफ चल रही देशों की लड़ाई में कौनसा देश कितना सफल और कितना असफल रहा है. हर साल नए आंकड़ों, नए डेटा कलेक्शन के आधार पर ही ‘ग्लोबल हंगर इंडेक्स’ की लिस्ट निकाली जाती है. वहीं, इस बार बच्चों में कुपोषण (मेल न्यूट्रीशन) की उच्च दर से देश में भूख का स्तर इतना गंभीर है कि पिछले साल भारत इस इंडेक्स में 97वें स्थान पर था और अब 100वें स्थान पर है.

यानी इस साल वर्ल्ड हंगर इंडेक्स में भारत और 3 स्थान पीछे चला गया है. रिपोर्ट के मुताबिक, भारत चीन (29), नेपाल (72), म्यामांर (77), श्रीलंका (84) और बांग्लादेश (88) से भी पीछे है. पाकिस्तान और अफगानिस्तान क्रमश: 106वें और 107वें स्थान पर हैं.

 

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*