राहुल के साथ चलीं रोहित वेमुला की मां, मेरे संघर्ष का प्रतीक

राहुल के साथ चलीं रोहित वेमुला की मां, मेरे संघर्ष का प्रतीक

भारत जोड़ो यात्रा में रोहित वेमुला की मां राहुल गांधी के साथ चलीं। राहुल ने कहा अन्याय के विरुद्ध में मेरे संघर्ष का प्रतीक हैं रोहित वेमुला।

भारत जोड़ो यात्रा में मंगलवार को रोहित वेमुला की मां राहुल गांधी से गले मिलीं। साथ-साथ भारत जोड़ो यात्रा में पैदल चलीं। रोहित वेमुला देश में दलित-पिछड़ों के संघर्ष के प्रतीक हैं। राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा कि सामाजिक अन्याय, भेदभाव के खिलाफ उनके संघर्ष के प्रतीक हैं रोहित वेमुला।

राहुल गांधी ने रोहित वेमुला के साथ गले मिलते अपनी तस्वीरों के साथ लिखा-रोहित वेमुला, सामाजिक भेदभाव और अन्याय के विरुद्ध मेरे संघर्ष का प्रतीक है, और रहेगा। रोहित की माताजी से मिल कर, यात्रा के लक्ष्य की ओर बढ़ रहे कदमों को नया साहस, और मन को नई शक्ति मिली। राहुल गांधी और रोहित वेमुला की मां के गले मिलते तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब शेयर की जा रही है। फोटो के साथ कई लोगों ने लिखा-माँ सी उम्मीद… बेटे सा भाव।

कन्हैया कुमार ने राहुल गांधी और रोहित वेमुला की मां की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा-जहाँ कर्नाटक में गौरी लंकेश की माँ और बहन भारत जोड़ो यात्रा में शिरकत की तो वहीं आज तेलंगाना में रोहित वेमुला की माँ और भाई यात्रा में शामिल हुए। इसीलिए तो कहते हैं अन्याय से टूटे सपनों को न्याय से जोड़ने की उम्मीद है- भारत जोड़ो यात्रा।

पत्रकार नवीन कुमार ने लिखा-शहीद रोहित वेमुला की मां बहुजन राजनीति की रबड़ी खाने वाला कोई बड़ा नेता उनसे कब मिला था? क्या आप इस तस्वीर को दरकिनार कर सकते हैं? पत्रकार शकील अख्तर ने लिखा-बहुत सही। रोहित वेमुला की आत्महत्या कोई साधारण नहीं थी। उसने अन्याय और अपमान के खिलाफ अपनी जान दी। और उसके बाद उसकी मृत्यु का मजाक उड़ाया गया। अपमानित किया गया उसी पर उल्टे आरोप लगाए गए। उनकी मां को सलाम। हिम्मत बनाए रखी और आज यात्रा में साथ आकर अपने बेटे की लड़ाई को आगे बढ़ाया।

अतिपिछड़ा वोट टूटने से नरभसाए मोदी, दिया उटपटांग बयान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*