राहुल ने मांझी को किया फोन, दिया बड़ा ऑफर, क्या बोले तेजस्वी

राहुल ने मांझी को किया फोन, दिया बड़ा ऑफर, क्या बोले तेजस्वी

राहुल ने मांझी को किया फोन, दिया बड़ा ऑफर, क्या बोले तेजस्वी। खड़गे ने नीतीश को किया फोन, पर नहीं हुई बात। उधर तेजस्वी ने बताई भीतर की बात।

बिहार में सियासी उथल-पुथल के बीच राहुल गांधी की भी इंट्री हो गई है। खबर है कि राहुल गांधी ने पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी को फोन किया और उन्हें इंडिया गठबंधन में आने का न्योता दिया है। मांझी के पास चार विधायक हैं और अगर वे एनडीए छोड़ देते हैं, तो बहुमत का आंकड़ा छूना आसान हो जाएगा। फिलहाल भाजपा और जदयू के पास बहुमत से सिर्फ आठ सीटें ज्याादा है। राहुल गांधी के बारे कहा जा रहा है कि बिहार को बचाने की कोशिश कर रहे हैं।

उधर कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने प्रेस वार्ता में एक सवाल के जवाब में कहा कि पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने नीतीश कुमार को कई बार फोन किया, लेकिन नीतीश कुमार ने बात नहीं की। जदयू के प्रवक्ता केसी त्यागी ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस की हठधर्मिता के कारण इंडिया गठबंधन टूटा है। उन्होंने कहा कि जब जरूरत सीटों के बंटवारे पर बात करने की थी, तब राहुल गांधी यात्रा पर निकल गए। इसके जवाब में कांग्रेस ने कहा कि खड़गे ने बात करने की कोशिश की।

राहुल गांधी के इस प्रयास के बाद राजनीति फिर से गरमा गई। कहा जा रहा है कि जीतन राम मांझी ने राहुल गांधी से बात की है। दोनों में संवाद खत्म नहीं हुआ है। राहुल गांधी ने इंडिया गठबंधन में खास भूमिका देने की बात की है। अभी यह जानकारी नहीं मिली कि राहुल गांधी ने मांझी को क्या ऑफर दिया है।

उधर राजद विधायकों और विधान पार्षदों की बैठक में तेजस्वी यादव ने भावनात्मक ढंग से सारी बात बताई। कहा कि नीतीश कुमार को हमेशा सहयोग किया। उनकी हर इच्छा को विनम्रता के साथ स्वीकार किया। अपने मंत्री तक को हटाया। उनकी हर बात मानी। बैठक में सभी विधायकों ने लालू प्रसाद को फैसले लेने के लिए अधिकृत किया। ध्यान देने की बात है कि तेजस्वी यादव ने अभी तक नीतीश कुमार के खिलाफ कोई विवादास्पद बयान नहीं दिया। तेजस्वी ने अपनी विनम्रता बनाए रखी है।

BJP की कोशिश नाकाम, यूपी में सपा-कांग्रेस में समझौता फाइनल