Rajat Sharma पर क्यों थूक रहे हैं सैकड़ों ट्विटर यूजर्स?

Rajat Sharma पर क्यों थूक रहे हैं सैकड़ों ट्विटर यूजर्स?

इंडिया टीवी के सम्पादक Rajat Sharma( रजत शर्मा) को चाहने वालों की कमी नहीं है लेकिन कल से सैकड़ों लोग उनके आठ महीने पुराने ट्विट के जवाब में उन पर थूक रहे हैं.

कोरोना मामले में तबलीगी जमात के तमाम लोगों को बेगुनाह साबित होने के बाद इंडिया टीवी के सम्पादक (Rajat Sharma) रजत शर्मा को ट्विटर पर भारी बेइज्जती का सामना करना पड़ा रहा है.

सैकड़ों लोग रजत शर्मा के उस जहरीले ट्विट पर जवाब दे रहे हैं जिसमें रजत शर्मा ने तबलीगी जमात पर झूठे आरोप लगाते हुए कहा था कि- मैं हैरान हूँ. तब्लीगी जमात ने कितना नुक़सान कर दिया. मुल्क के बाहर से लोग आए. अपने साथ कोरोना लाए. उन्होंने इसे छिपाया. ना जाने कितनों तक पहुँचाया. कई लोगों को मौत दे दी. इतनी बड़ी लापरवाही. आख़िर क्यों?

Dr.Kafeel के पीछे पड़ी योगी सरकार को होना पड़ा बेइज्जत

बिहार विधान सभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव केे राजनीतिक सलाहकार संजय यादव ने रजत शर्मा को करारा जवाब देते हुए लिखा है कि ‘इतने बड़े झूठ ने देश, समाज और भारतीयता को कितना नुक़सान पहुँचाया है उसका आप आँकलन नहीं कर पाएँगे। बहरहाल, हैरान तो ‘पक्ष’कारिता को होना भी चाहिए”.

गौरतलब है कि मार्च में देश के ज्यादातर मीडिया ने अभियान चला कर तबलीगी जमात पर झूठे आरोप लगाये थे कि उसके कारकुनों ने देश में कोरोना का संक्रमण फैलाया. इसके लिए टीवी चैनलों ने कोरोना बम, कोरोना जिहाद जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया था. बाद में इस मामले में केस किया गया और तबलीगी जमात के 954 लोगों को अलग अलग समय में अरेस्ट किया गया. पिछले दो तीन महीने में विभिन्न अदालतों ने इन तमाम लोगों को बेगुनाह बता कर रिहा करने का हुक्म दिया. आखिरी बचे 36 लोगों को भी कल दिल्ली की अदालत ने रिहा कर दिया.

इस मामले में वैसे तो अनेक टीवी चैनलों ने तबलीगी जमात के खिलाफ जहर उलगा था लेकिन ट्विटर पर इंडिया टीवी के सम्पादक जत शर्मा के खिलाफ लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है.

वसीम अकरम त्यागी ने लिखा है- ओ बेग़ैरत @RajatSharmaLive अगर थोड़ी सी भी ग़ैरत बची हो तो तब्लीग़ी जमात और देश के मुसलमानों से माफी मांग ले, तेरी माफी से तेरा ही पाप कम होगा जो तूने उनके साथ किया है वह तो वापस नहीं होगा, लेकिन फिर लगेगा कि तुझमे कुछ ग़ैरत है बाक़ी है। समाज में रहना है तो उसके तौर तरीक़े भी सीख.

वहीं नौकरशाही डॉट कॉम के सम्पादक इर्शादुल हक ने लिखा है कि- कभी आईने के सामने खड़े हो जाना @RajatSharmaLive .गौर से देखना. खुद तुम्हारा प्रतिबिम्ब तुम्हारे मुंह पर थूकता हुआ दिखेगा. वैसे समाज को आईना दिखाने की जिम्मेदारी तो तुमने ले रखी है. लेकिन यकीन मानो तुम्हारा प्रतिबिंब तुम्हें दुत्कारेगा. शर्त यह है कि तुम्हारा जमीर जरा भी जिंदा हो.

ह्युमन ट्विटर हैंडल ने लिखा है-मैं हैरान हूँ। रजत शर्मा ने कितना नुकसान कर दिया। मुल्क को हिन्दू मुसलमान में बांट दिया। अपने फायदे हैं कि लिए चापलूसी की। देश की जनता को सच नही बताया। जा जाने कितने लोगों तक झूट पहुंचाया। इसकी वजह से कई लोगों को मौत दे दी गयी। फिर भी इसे जेल नही। आखिर क्यों?

हिटलर ने ट्विट करते हुए लिखा है कि- अब ये दलाल जवाब नही देगा। कल इसी के बारे में बोल रहा था कहाँ चुप रहना है कहाँ बोलना है.

अनब्रेकेबल ने ट्विट कर लिखा है कि -शर्मा जी, तुम्हारी बेशर्मी और जलालत भरी पत्रकारिता पर जनता को बिल्कुल हैरानी नहीं.

प्रदीप गुप्ता ने ट्विट करते हुए कहा है कि रजत शर्मा जी कोर्ट के आदेश के बाद , अब तो भाजपा के इशारे पर अपना थूका हुआ चाटना पड़ेगा आप जैसे पत्रकारों को । कोर्ट ने इन तबलिगी जमात के लोगों को बेगुनाह घोषित कर दिया है ।

पुण्य समल ने ट्विट करते हुए कहा है कि मैं हैरान हूँ. गोदी मीडिया ने कितना नुक़सान कर दिया.मुल्क केहि कुच लोग मुल्क के हित के खलीफ़ दालली किये. उन्होंने लोगो से सच छिपाया. ना जाने कितनों मैन मे नफ़रत फेलया. इतनी बड़ी लापरवाही और धोका. आख़िर क्यों?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*