रमई राम ने लालू को, लालू ने पहला सदस्य तेजस्वी को क्यों बनाया

रमई राम ने लालू को, लालू ने पहला सदस्य तेजस्वी को क्यों बनाया

आज राजद का सदस्यता अभियान शुरू हो गया। पहले दिन पांच लाख सदस्य बनाने का लक्ष्य छोटा पड़ा। लालू ने पहला सदस्य तेजस्वी को बना कर क्या दिया संदेश?

राजद का आज देशभर में सदस्यता अभियान शुरू हो गया। अभियान की शुरुआत पार्टी के वरिष्ठ नेता रमई राम ने राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद को सदस्य बना की। इसके बाद लालू प्रसाद ने पहला सदस्य तेजस्वी यादव को बनाया। इसके दो संदेश हैं। पहला तो स्पष्ट है कि उनके बाद पार्टी में तेजस्वी ही हैं। लेकिन एक दूसरा संदेश भी है, जो ज्यादा महत्वपूर्ण है। लालू चाहते, तो किसी अन्य वरिष्ठ और बुजुर्ग नेता को पहला सदस्य बना सकते थे, लेकिन उन्होंने तेजस्वी को पहला सदस्य बनाकर यह संदेश दिया कि पार्टी अब बदल रही है। तेजस्वी युवा हैं और पार्टी चाहती है कि बिहार के युवा पार्टी से जुड़ें। तेजस्वी पिछले साल से ही युवाओं के मुद्दे रोजगार पर सर्वाधिक मुखर रहे हैं। वे पार्टी को ए टू जेड की पार्टी बनाना चाहते हैं। वे सामाजिक न्याय की समाजवादी विचारधारा पर खड़े होकर राज्य और राज्य की आबादी के आर्थिक बेहतरी के लिए संघर्ष कर रहे हैं। एक तरह से लालू ने तेजस्वी की इस महिम पर मुहर लगा दी।

राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन ने बताया कि पहले दिन पांच लाख सदस्य बनाने का लक्ष्य था, जो छोटा पड़ गया। आज पहले दिन पांच लाख से ज्यादा सदस्य बने। इसअवसर पर नेता प्रतिपक्ष श्रीतेजस्वी प्रसाद यादव, प्रदेश राजद अध्यक्ष श्रीजगदनानंद सिंह, श्री शिवानंद तिवारी,श्री अब्दुलबारी सिद्दीकी, श्री अवध बिहारी चौधरी, श्री रमई राम, श्री तनवीर हसन श्री शिवचंद्र राम, श्री अशोक कुमार सिंह, श्री आलोक मेहता,श्री श्याम रजक, श्री भोला यादव, श्री बृषन पटेल, श्री सुनील कुमार सिंह,श्रीमती प्रेमा चौधरी, श्री चितरंजन गगन, श्री मृतुन्जय तिवारी,श्री कारी शोएब,श्री अरुण यादव, श्री निराला यादव,सहित कई विधायक एवम विधानपार्षद एवम पार्टी पदाधिकारियों को पार्टी की सदस्यता का प्रमाण दिया। विभिन्न प्रदेशों से आये राजद सदस्यों को भी सदसयता प्रमाण पत्र दिए गए।

प्रदेश राजद अध्यक्ष जगदनानंद सिंह ने कहा कि राजद राज्य की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी है इस लिये इसके सदस्यों की संख्या भी सब से अधिक होनी चाहिये।पार्टी ने फिलहाल एक करोड़ सदस्य का लक्ष्य निर्धारित किया है।1000रुपये दे कर सक्रिय सदस्य बन सकते हैं।सक्रिय सदस्यों की जिमेदारी होगी के वे कमसे कम25 लोगों को सक्रिय रूप से राजद से जोड़ें और राजद को मजबूत करें ।राजद के सदस्य लोगों के बीच जाएं उन्हें पार्टी की विचार धारा से जोड़ें।राजद के नेता बड़े नेता इस लिये हैं कि वे बड़े जमायत के नेता हैं।लालू जी ने सबको जगाया वे चाहते हैं हैं कि सामाजिक न्याय और सत्ता मे भागीदारी की किरण समाज के उपेछित, अभिवंचित तक पहुचे ।सब घर आंगन खुशाल हो ।

RCP ने दिखाई ताकत, नीतीश कुमार को डाल दिया उलझन में

नेता प्रतिपक्ष श्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा सदस्यों को यह जानना होगा कि उनकी सदस्य के नाते क्या जवाब देही है।वे इस जवाबदेही का निर्वाह पूरी ईमानदारी से निभाएं ।राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री लालू प्रसाद के आशिर्वाद से बैठक की कार्यवाही समाप्त की गई।उन्होंने कहा की पार्टी को जन जन तक पहुचा कर सत्ता और समाज मे भागीदारी लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*