RJD ने ‘बिकाऊ’ पीके से पूछा CAA विवाद पर JDU से क्यों नहीं दिया इस्तीफा

राष्ट्रीय जनता दल ने प्रशांत किशोर को बिकाऊ और भाजपा एजेंट करार दिया और कहा है कि नीतीश कुमार के NRC-CAA पर जो स्टैंड है उसके विरोध में वे जदयू से वह इस्तीफा क्यों नहीं दे देते.

राजद ने  प्रशांत किशोर ( पीके) पर हल्ला बोलते हुए कहा है कि आपको ( पीके) खुद नीतीश कुमार ने भाजपा का एजेंट करार दिया था और आपको भाजपा के दबाव में जदयू का उपाध्यक्ष बनाया था, ऐसा नीतीश ने खुद एक इंटर्व्यू में कहा था.

प्रशांत पर राजद ने किया हमला

दर असल जदयू के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा था कि कांग्रेस का कोई भी बड़ा नेता NRC-CAA के खिलाफ प्रदर्शन में सड़क पर नहीं है. कम से कम कांग्रेस के मुख्यमंत्रियों को इस मामले में सामने आना चाहिए और तमाम मुख्यमंत्रियों के साथ मिल कर कहना चाहिए कि वे एनआरसी लागू नहीं करेंगे.

NRC-CAA प्रदर्शन में टोपी पहन कर हिंसा करते पकड़ा गया भाजपाई

काबिले जिक्र है कि प्रशांत किशोर ने नागरिकता संशोधन ऐक्ट और एनआरसी का खुल कर विरोध किया था. पीके ने नागरिकता संशोधन विधेयक और एनआरसी को नागिरकों का डिमोनेटाइजेशन करार दिया था.

प्रशांत किशोर ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा था कि कांग्रेस का कोई भी बड़ा नेता NRC-CAA के खिलाफ प्रदर्शन में सड़क पर नहीं है. कम से कम कांग्रेस के मुख्यमंत्रियों को इस मामले में सामने आना चाहिए और तमाम मुख्यमंत्रियों के साथ मिल कर कहना चाहिए कि वे एनआरसी लागू नहीं करेंगे.

लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात के बाद प्रशांत किशोर के रुख में तुलनात्मक रूप से नर्मी आ गयी थी.

चुनाव अभियान में शिवि सेना के लिए किया काम

आप को याद दिला दें कि पीके जदयू में रहते हुए शिव सेना के चुनाव अभियान का हिस्सा थे. और हाल ही में उनका आम आदमी पार्टी के साथ बिजनेस डील हुआ है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*