लालू की घर वापसी के लिए भगवान की शरण में RJD विधायक

दीपक कुमार ठाकुर, बिहार ब्यूरो चीफ

घर वापसी हुई तो विरोधियों पर बहुत भारी पड़ेंगे लालू’! भगवान की शरण में पहुंचे RJD विधायक

पटना. चारा घोटाला मामले में जेल में बंद लालू प्रसाद यादव का जेल से बाहर आने का बेसब्री से इंतजार किया जा रहा है. आरजेडी के विधायक तो इसके लिए भगवान से प्रार्थना भी कर रहे हैं. विधायक सर्वजीत कुमार, पूर्व राजद विधायक रामाशीष यादव कहते हैं कि अपने अभिभावक लालू यादव की रिहाई के लिए वो रांची हाईकोर्ट से विनती भी कर रहे हैं. दरअसल, लालू कुनबे को बखूबी पता है कि उनकी पार्टी और बिहार की राजनीति में उनका कितना महत्व है.


सर्वजीत कुमार अकेले विधायक नहीं हैं जो अपने नेता लालू यादव की रिहाई के लिए ईश्वर से प्रार्थना कर रहे हैं. आरजेडी का पूरा कुनबा ही भगवान से यही विनती कर रहा है कि कम से कम चुनाव से पहले लालू जी जेल की सलाखों से बाहर आ जाएं. वरिष्ठ पत्रकार रवि उपाध्याय भी मानते हैं कि लालू यादव बिहार की राजनीति का वो करिश्माई चेहरा हैं जो चुनाव प्रचार से दूर रहकर भी केवल जेल की सलाखों से बाहर आ जाएं तो विरोधियों पर बहुत भारी पड़ सकते हैं. वे ये भी मानते हैं कि लालू की घर वापसी से आरजेडी का माई (मुस्लिम-यादव) समीकरण और ज्यादा मजबूत हो जाएगा. साथ ही पिछड़ों की गोलबंदी भी जोरदार तरीके से हो जाएगी. जाहिर है आरजेडी के लिए लालू की घर वापसी संजीवनी का काम कर जाएगी.


चारा घोटाला के कई मामलों में जेल में बंद हैं लालू


चारा घोटाला के कई मामलों में लालू जेल में बंद हैं. दिसंबर 2019 में दुमका कोषागार मामले में रांची हाईकोर्ट ने लालू यादव की जमानत याचिका खारिज कर दी है. दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में लालू यादव ने जमानत मांगी थी. लालू ने बीमारी का हवाला देकर यह याचिका दाखिल की थी, लेकिन कोर्ट ने फिर भी लालू की याचिका खारिज कर दी. 90 दिनों के बाद फिर से लालू यादव जमानत की अर्जी कोर्ट में दाखिल कर सकेंगे.


विरोधी भले ही अभी लालू को कोई खास तवज्जो ना दें, लेकिन ये विरोधी भी जानते हैं कि लालू की वापसी उनके लिए कितनी बड़ी चुनौती साबित हो सकती है. खैर जो भी हो लेकिन आरजेडी की प्रार्थना अगर वाकई सफल हो गई और लालू जेल से बाहर आ गए तो आरजेडी कुनबे के लिए लालू वाकई एक संजीवनी साबित हो जाएंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*