राजद ने मनाई सावित्री बाई की सहयोगी फातिमा शेख की जयंती

राजद ने मनाई सावित्री बाई की सहयोगी फातिमा शेख की जयंती

राजद ने मनाई सावित्री बाई की सहयोगी फातिमा शेख की जयंती। जब ज्योतिबा और सावित्री बाई फुले को घर से निकाल दिया गया था, तब इन्हीं के घर में रहे थे दोनों।

फातिमा शेख का जन्म आज से करीब 190 साल पहले 1831 में पुणे, महाराष्ट्र में हुआ था। सावित्री बाई के साथ मिल कर इन्होंने दलितों और महिलाओं के लिए स्कूल खोला। शिक्षा पाने के अधिकार के लिए लड़ीं। जब ज्योति बा फुले और सावित्री बाई फुले को उनके सामाजिक कार्यों से खपा घरवालों ने घर से निकाल दिया तो फातिमा शेख के घर पर ही दोनों ने रह कर अपनी लड़ाई लड़ी।

राष्ट्रीय जनता दल के राज्य कार्यालय में महिलाओं में शिक्षा की अलख जगानेवाली समाज सुधारक फातिमा शेख जी की जयन्ती प्रदेश अध्यक्ष जगदानन्द सिंह जी की अध्यक्षता में मनाई गई। इस अवसर पर उनके चित्र पर माल्र्यापण कर श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

अपने संबोधन में प्रदेश अध्यक्ष जगदानन्द सिंह ने कहा कि फ फातिमा शेख देश की पहली मुस्लिम महिला शिक्षिका थी। इन्होंने सावित्री बाई फुले के साथ मिलकर काम किया व दलित और मुस्लिम महिलाओं, बच्चों को शिक्षित करने की शुरूआत की। यही नहीं इन्होंने 1848 में लड़कियो के लिए देश में पहले स्कूल की स्थापना भी की थी। फातिमा शेख का जन्म 09 जनवरी, 1931 को पूणे के एक मुस्लिम परिवार में हुआ था।

इस अवसर पर माल्यार्पण करने वालों में राष्ट्रीय महासचिव श्याम रजक, प्रदेश उपाध्यक्ष वृषिण पटेल, डाॅ0 तनवीर हसन, भूदेव चैधरी, मा0 मंत्री डाॅ0 रामानंद यादव, जीतेन्द्र कुमार राय, मो0 शहनवाज आलम, पूर्व विधायक दीनानाथ सिंह यादव, मुकुंद सिंह, मदन शर्मा, मो0 फैयाज आलम कमाल, बल्ली यादव, डाॅ0 पे्रम कुमार गुप्ता, प्रमोद कुमार राम, भाई अरूण कुमार, संजय यादव, संटू कुमार यादव, खुर्शीद आलम सिद्दिकी, गुलाम रब्बानी, अरूण कुमार यादव, रीतू जायसवाल, संतोष कुमार भारती, विजय कुमार यादव, अशोक कुमार गुप्ता, अनिल कुमार साधु, कुमर राय, चंदन यादव, गोपाल प्रसाद गुप्ता, पी0 के0 चैधरी, गगन कुमार, श्यामनंदन यादव, सरदार रंजीत सिंह, प्रमोद कुमार सिन्हा, जेम्स कुमार यादव, शिवेन्द्र कुमार तांती, दिनेश राम, कुंदन राय, शकुंतला प्रजापति, उपेन्द्र चन्द्रवंशी, साकेत कुमार, विनोद कुमार यादव, प्रतिमा सिंह, ई0 अमित पटेल, बेलाल खान, पंकज यादव, गणेश कुमार यादव सहित अन्य गणमान्य नेतागण उपस्थित थे।

कौन हैं शोभा गुप्ता, जो 20 साल लड़ती रहीं बिलकिस का केस