रो पड़ी भारत माता! गैंगरेप के सजायाफ्ता निकले तो आरती उतारी

रो पड़ी भारत माता! गैंगरेप के सजायाफ्ता निकले तो आरती उतारी

गुजरात सरकार ने गैंगरेप मामले में उम्रकैद की सजा काट रहे 11 लोगों को माफी योजना के तहत माफ किया। जेल से निकले, तो उनकी आरती उतारी गई, मिठाई खिलाई गई।

21 साल की बिलकिस बानो तब गर्भवती थी, लेकिन उसके साथ गैंगरेप किया गया। उसके परिवार के सात लोगों की हत्या कर दी गई। उस मामले में 11 लोगों को उम्र कैद की सजा हुई। अब गुजरात सरकार ने माफी योजना के तहत उनकी सजा माफ कर दी। स्वतंत्रता दिवस पर कल सभी दोषी जेल से बाहर हो गए। हद तो यह है कि जब वे जेल से निकले तो उनकी आरती उतारी गई, मिठाई खिलाई गई। पूरे देश में हो रही थू-थू।

महिला अधिकारों के लिए देशभर में लड़नेवाली योगिता भयाना ने कहा-वीडियो में दिख रहे 2002 दंगों में बिलकिस बानो रेप मामले में सजायाफ्ता कैदियों की हैं, इनका स्वागत, आरती, तिलक लगाकर, मिठाई खिलाकर किया गया। अब इंतज़ार है रेपिस्टों के सम्मान में रैली भी निकले। जब गैंगरेप हुआ तब बिल्कीस 5 महीने की गर्भवती थी। उनकी एक 3 साल की बच्ची की भी हत्या की गयी। ये है वीडियो-

सोशल मीडिया में देश-विदेश से लोग इस गैंगरेप के दोषियों की आरती उतारने पर स्तब्ध हैं, रोष जता रहे हैं। स्वाति मिश्रा ने लिखा-गुजरात में 2002 में गर्भवती बिल्किस बानो और उनके परिवार की महिलाओं का गैंगरेप किया गया, 7 लोगों का कत्ल किया गया। 2008 में 11 दोषियों को उम्रकैद हुई। इनकी सजा माफ करके आज इन्हें स्वतंत्रता दे दी गई। आज ही प्रधानमंत्री मोदी जी ने नारी सम्मान की काफी बातें की हैं। पत्रकार शकील अख्तर ने लिखा-निर्भया के वीभत्स बलात्कार कांड के बाद बने नए कानून, आई नई चेतना के बाद भी बलात्कारियों की सजा माफ हो रही है! याद रहे उस निर्भया कांड को ऐसे पेश किया गया था जैसे कांग्रेस की केंद्र और राज्य सरकार दोषी हो। उसी को प्लेटफार्म बना कर यह सत्ता में आए थे।

फिल्म निर्माता विनोद कापरी ने लिखा-बलात्कारियों और हत्यारों को ऐसा सम्मान इससे पहले कब देखा गया? कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा-आज सुबह ही प्रधान मंत्री ने लाल क़िले की प्राचीर से नारी सम्मान के संकल्प का आह्वान किया था। सच में, ऊँची दुकान, फीके पकवान।

नीतीश मंत्रिमंडल का विस्तार, जानिए किसे मिला कौन-सा विभाग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*