RS Bhatti नए DGP, शराब माफियाओं को अंदर करना बड़ी चुनौती

RS Bhatti नए DGP, शराब माफियाओं को अंदर करना बड़ी चुनौती

RS Bhatti बड़े ही चुनौतीपूर्ण समय में नए DGP बने। सीएम नीतीश कुमार कई बार कह चुके कि पुलिस बड़े शराब माफियाओं को पकड़े। यही सबसे बड़ी चुनौती..।

1990 बैच के IPS अफसर Rajwinder Singh Bhatti बिहार के नए डीजीपी बनाए गए हैं। ऐसे तो हर डीजीपी के समक्ष चुनौतियां होती हैं, लेकिन आरएस भट्टी ऐसे समय इस पद को संभाल रहे हैं, जब बिहार में जहरीली शराब से अनेक लोग मारे गए हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कई बार सार्वजनिक तौर पर कह चुके हैं कि पुलिस शराब के धंधे में लगे बड़े माफियाओं को पकड़े। हालांकि इक्के-दुक्के बड़े शराब धंधेबाज पकड़े गए हैं, लेकिन शराब का अवैध धंधा रुक नहीं पा रहा है। पुलिस विभाग ने अपने अधिकारियों के लिप्त होने की जानकारी की बाद कार्रवाई भी की है, लेकिन अभी बहुत कुछ किया जाना बाकी है।

राजद ने भाजपा के दो सांसदों पर शराब माफियाओं को संरक्षण देने का आरोप लगाया है। जदयू भी इसी तरह का आरोप लगा चुका है। आरएस भट्टी कानून व्यवस्था लागू करने को लेकर राजनीतिज्ञों के प्रति भी कड़क रहे हैं। पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की गिरफ्तारी में इनकी कभी महत्वपूर्ण भूमिका थी। कई एनकाउंटर भी उनके कार्यकाल में हुए, जिसे लेकर भट्टी विवादों में भी रहे। अब देखना है कि क्या वे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के महात्वाकांक्षी निर्णय शराबबंदी को पूरी तरह लागू कराने में पुलिस को किस तरह योजनाबद्ध तरीके से तौयार करते हैं।

आरएस भट्टी मूल रूप से पंजाब के रहनेवाले हैं। वे फिलहाल बीएसएफ के इस्टर्न कमांड में डायरेक्टर जेनरल के पद पर कार्यरत थे। वे सोमवार को अवकाश लेने वाले डीजीपी एसके सिंघल का स्थान लेंगे।

आरएस भट्टी का कार्यकाल 2025 तक है। जाहिर है 2024 में लोकसभा चुनाव तथा 2025 में बिहार विधानसभा चुनाव में भी इस पद पर रहते हुए उनकी विशेष भूमिका होगी।

RJD का BJP सांसद पर धमाकेदार आरोप, शराब माफिया को बचा रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*