सामाजिक रिश्तों की मजबूती में ईद मिलन की अहम भूमिका : धर्मगुरु

सामाजिक रिश्तों की मजबूती में ईद मिलन की अहम भूमिका : धर्मगुरु

जमाअते इस्लामी हिन्द, बिहार ने मरकजे इस्लामी में ईद मिलन समारोह का आयोजन किया। विभिन्न धर्मों के गुरुओं ने कहा, ईद मिलन कार्यक्रम से से बढ़ता है भाईचारा।

जमाअते इस्लामी हिन्द बिहार के ओर से इसके मुख्यालय मरकजे इस्लामी में ईद मिलन समारोह का आयोजन किया गया। समारोह में विभिन्न सम्प्रदायों के धर्मगुरुओं, सामाजिक कार्यकर्ताओं और शहर के गणमान्य लोगों ने शिरकत की। इस अवसर पर बड़ी पटनदेवी मंदिर के महंत विजय शंकर गिरि ने लोगों को ईद की शुभकामना देते हुए कहा कि हम लोग आपस में मिलजुल कर जैसे रहते आए हैं, उसी तरह हमेशा रहेंगे।

जमाअते इस्लामी हिन्द बिहार के प्रदेश अध्यक्ष मौलाना रिजवान अहमद इस्लाही ने कहा कि ईद खुशी का नाम है और एक-दूसरे से मिले बिना ईद की खुशी मुकम्मल नहीं होती। उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान एक प्लुरल सोसायटी है। विभिन्न धर्मों के लोग एक-दूसरे के साथ दुख-सुख में साथ देते हैं। एकता में अनेकता भारत के अलावा शायद ही किसी दूसरे देश में देखने को मिले।

बिहार दलित विकास समिति के फादर जोस ने कहा कि आज नवजवानों और बच्चों के दिमाग को दूषित करने का प्रयास किया जा रहा है। ऐसे में ईद मिलन जैसे आयोजन समय की मांग हैं। पद्मश्री सुधा वर्गीज ने कहा कि हालात को बेहतर बनाने में हम सब को मिलजुल कर कोशिश करनी चाहिए। समाज को मजबूत करना और आगे ले जाना हम सब की जिम्मेदारी है।

सामाजिक कार्यकर्ता कंचनबाला ने कहा कि आज हालात पहले से ज्यादा नाजुक हैं। ऐसे में हमें समय-समय पर टी-पार्टी का आयोजन करके सामाजिक रिश्तों को मजबूत करना चाहिए। डॉ. ध्रुव कुमार ने कहा कि संकट के हालात से हमें मिल-जुल कर निपटने का सलीका आना चाहिए। हमें हर हाल में भाईचारे को बनाए रखना है।

RJD के चार ब्राह्मण नेता आए सामने, BJP को दी सीधी चुनौती

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*