सरकार कहे, तो राजद विधायक पूरा वेतन देने को तैयार

सरकार कहे, तो राजद विधायक पूरा वेतन देने को तैयार

केंद्र द्वारा फ्री वैक्सीन नहीं देने का विरोध करते हुए केरल में क्राउड फंडिंग से 1.5 करोड़ सीएम कोष में दिए। राजद ने कहा, उसके विधायक वेतन देने को तैयार।

राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानन्द सिंह ने कहा है कि कोरोना महामारी में सरकार को हर प्रकार से सहयोग देने को तैयार हैं। सरकार बताये कि वह किस प्रकार का सहयोग विपक्ष से लेना चाहती है।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव के निर्देश पर पार्टी के सभी विधायक और पार्टी के सभी इकाइयों सहित दल से जुड़े साथी पहले से ही अपने क्षेत्र में सक्रिय हैं। अधिक से अधिक लोगों की जांच करवाना और संक्रमित लोगों के समुचित उपचार के साथ ही सुरक्षात्मक उपायों के प्रति जागरूकता पैदा करने का काम कर रहे हैं।

पिछले साल कह रहे थे तबलीगी जिम्मेदार, अब कह रहे प्रकृति

राजद नेता ने कहा कि ऑक्सीजन और वेंटिलेटर की व्यवस्था करना तो सरकार के ही अधिकार क्षेत्र में है। दल से जुड़े एक विधायक ने तो नवादा जिले में अपने निजी फंड से 50 बेड की व्यवस्था भी कर दी है।

उन्होंने ने कहा कि सरकार को बताना चाहिए कि उसे विपक्षी दलों से किस प्रकार का सहयोग चाहिए। अभी सबसे अधिक परेशानी ऑक्सीजन गैस को लेकर हो रही है जिसका आवंटन केन्द्र सरकार करती है। अस्पतालों में वेंटिलेटर और वेड की व्यवस्था सरकार करती है। दवाईयों पर नियंत्रण सरकार का है। अब इसमें सरकार की वास्तविक स्थिति क्या है उसे सार्वजनिक रूप से बताना चाहिए।

बताओ, कौन रोक रहा आक्सीजन, फांसी पर लटका देंगे : हाईकोर्ट

सरकारी स्वास्थ्यकर्मी और प्रशासनिक महकमा के लोग भी अपनी जान पर खेलकर उपलब्ध साधनों का इस्तेमाल करते हुए अपने स्तर से बेहतर सेवा देने का प्रयास कर रहे हैं। पर साधन उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी सरकार की है। राजद से जुड़े चिकित्सक और तकनीशियन पहले से ही नि:शुल्क सेवा दे रहे हैं। सरकार अपने स्तर से यदि इनका सेवा लेना चाहती है तो वह जानकारी उपलब्ध कराये राजद के साथी सेवा देने को तैयार हैं।

राजद प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि यदि सरकार को आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है तो वह उनके हाथ में है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव के निर्देश पर हमारे सभी विधायक अपनी पुरी राशि आर्थिक सहयोग के रूप में देने को तैयार हैं। पिछले बार भी हमारे दल के विधायकों द्वारा सरकार को सहयोग दिया गया था पर उस राशि को कहां खर्च किया गया इसकी जानकारी भी सार्वजनिक होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि तत्काल अभी 14-14 लीटर वाली कम से कम 100-100 गैस सिलेंडर सभी जिलों में उपलब्ध कराना जरूरी है। जिलों की आवादी के अनुसार सिलेंडरों की संख्या निर्धारित की जा सकती है। बड़े अस्पतालों सहित सदर अस्पतालों और रेफरल अस्पतालों में खराब पड़े वेन्टीलेटरों को तत्काल मरम्मत करवा कर उसे इस्तेमाल योग्य बनाया जाए और वेन्टीलेटरों के हिसाब से गैस की आपूर्ति बढ़ाई जाये ।

सरकार की सारी व्यवस्था अस्पष्ट है। कितना बेड, गैस और वेंटिलेटर की आवश्यकता है और कितना उपलब्ध है यह स्पष्ट हीं नहीं है। हर तरफ अस्त-व्यस्तता की स्थिति है जिससे लोग परेशान हैं। उन्होंने पुनः दुहराते हुए कहा कि आपदा के इस घड़ी में राजद बिहार की जनता के साथ खड़ी है और सरकार को हर तरह से सहयोग देने को तैयार है अब सरकार को यह तय करना है कि वह किस रूप में सहयोग लेना चाहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*