Bihar के 25 हजार MSME को SBI ने दिया 844 करोड़

एडवांटेज डायलाॅग में स्टेट बैंक के सी.जी.एम. महेश गोयल ने कहा, बिहार के 24,800 एम.एस.एम.ई. को 844 करोड़ का लोन दिया गया

एडवांटेज डायलाॅग के 20वें एपिसोड में माॅडरेटर नगमा सहर से बातचीत में उन्होंने लाॅकडाउन में सराहनीय काम करने के लिए अपनी टीम को बधाई दी

भारतीय स्टेट बैंक के पटना सर्किल के मुख्य महाप्रबंधक (सी.जी.एम.) महेश गोयल ने कहा है कि लाॅकडाउन के चलते पटरी से उतरी अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए एक जून तक बिहार में 24,800 एम.एस.एम.ई. को 844 करोड़ का लोन दिया गया है जबकि राष्ट्रीय स्तर पर चार लाख चार हजार करोड़ का लोन दिया गया है।

19 हजार करोड़ का नया लोन एम.एस.एम.ई. को सरकार और बैंक की ओर से दिया गया है। उन्होंने कहा कि 20 करोड़ प्रधानमंत्री योजना में 5 करोड़ बिहार और झारखंड को दिया गया है।

लाॅकडाउन के दौरान ग्राहक सेवा केन्द्र सुबह आठ बजे से षाम आठ बजे तक काम कर रहा था। इस दौरान संवाद का योगदान काफी रहा। उन्होंने कहा कि कांफ्रेंसिंग के जरिये महाप्रबंधक, उप महाप्रबंधक, रिजनल मैनेजर से प्रतिदिन बात करके काम को अंजाम दिलाया जाता था। उन्होंने कहा कि इस दौरान सोषल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मेरी टीम काम कर रही थी।

उन्होंने अच्छा काम करने के लिए अपनी टीम को धन्यवाद दिया। इस दौरान डिजिटल योनो एप (यू आली नीड वन) का ग्राहकों ने काफी इस्तेमाल किया। इस दौरान स्टेट बैंक ने ग्रामीण क्षेत्रों में काफी काम किया। डायरेक्ट ट्रांसफर मामले पर ग्लोबल आई.टी. सेन्टर, सरकार और बैंक ने काफी सुरक्षित तरीके से काम किया। प्रतिदिन बैंक से 5 से 6 लाख लोग जमा और निकासी करते थे।

उन्होंने कहा कि डिमांड में दबाव था। ग्राहक कम थे। बिहार में डिजिटल का उपयोग अच्छा रहा। उन्होंने कहा कि योनो (yono) सुरक्षित है। योनो से बहूत सारे काम किये जाते हैं। योनो शापिंग, योनो कैश भी है। आने वाला समय डिजिटल का होगा। वे आज रविवार 28 जून को डिजिटल प्लेटफार्म जूम पर एडवांटेज डायलाॅग के 20वें एपिसोड (दिन के 12.00 बजे से 1.00 बजे तक) में कोविड 19 के बाद बैंक समृद्धि के रास्ते बतायेंगे (हाउ बैंक्स कैन षो पाथ टू प्रोस्पैरिटी आफटर कोविड 19) विषय पर बोल रहे थें।

महेश गोयल से नगमा ने बातचीत की

एन.डी.टी.वी. की मीडिया एक्सपर्ट नगमा सहर से बातचीत मे उन्होंने कहा कि स्टेट बैंक के किसी भी ग्राहक को अगर कहीं से फोन कर खाता नम्बर और पासवर्ड, आदि की मांग की जाती है तो उसे अपना खाता नम्बर और पासवर्ड उसे नहीं देना चाहिए क्योंकि बैंक कर्मी फोन करके ये चीजें नहीं मांगता क्योंकि वह सारी चीजें तो उसके पास पहले से हैं। उन्होंने कहा कि अभी वक्त है कठिनाई का, लोग लोन का उपयोग करें। बैंक की ब्याज दर काफी कम हो गयी है इसलिए म्युचल फंड, इंष्योरेंस, जेनरल इंष्योरेंस का इस्तेमाल करें।

ब्याज दर में छह महीनें की छूट मिलेगी। रिजर्व बैंक मार्च से लेकर अगस्त 2020 तक एन.पी.ए. घोशित नहीं करेगा। 90 प्रतिशत एम.एस.एम.ई. शुरू हो चुके हैं। अर्थव्यवस्था में बैंक की भूमिका काफी महत्वपूर्ण होती है। इसमें डिजिटल टेक्नोलाॅजी का रोल अहम होगा। घर मे बैठकर लोग इसका इस्तेमाल कर सकेंगे।

ई-शपिंग के लिए एप शुरू किया गया है। एस.बी.आई. का क्विक एप नया है जिससे खाता में रकम तथा बैलेंस की जानकारी मिलती है। उन्होंने कहा कि वे बिहार इंडस्ट्रीज एसोसिएशन तथा बिहार चेम्बर आॅफ काॅमर्स से ई.एम.आई. पर वर्चुअल बात कर चुके हैं। वर्क फ्राॅम होम अब वर्क फ्राॅम एव्री व्हेयर हो जायेगा। देश में स्टेट बैंक के 44 करोड़ ग्राहक हैं। काम कभी लंबित नहीं रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि वह मीटिंग के बाद भी काम करते हैं तथा कभी-कभी सुबह में भी काम निबटाते हैं। कर्म ही धर्म है। काम का आनंद लेने से सेहत अच्छी रहेगी।

ई.एम.आई. स्थगित किये जाने के रिजर्व बैंक के फैसले पर उन्होंने कहा कि हमारे बैंक के 90 प्रतिशत ग्राहकों ने समय पर ई.एम.आई. का भूगतान किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*