साहत्यकार शौमवेल अहमद पर हमला, MMHU के पूर्व वीसी और महिला रचनाकार के पति पर केस

उर्दू के विख्यात अफसाना निगार शौमएल अहमद पर रविवार को बिहार उर्दू अकादमी के परिसर में हमला किया गया है. चर्चा है कि इस हमले के पीछ अहमद की कहानी ‘लुंगी’ के कुछ किरदार मौलाना मजहरुल हक युनिवर्सिटी के पूर्व वीसी एजाज अली अरशद और एक महिला रचनाकार  से प्रभावित  है.

शौमएल अहमद उर्दू अफसानानिगार हैं

यह हमला उसी कहानी के विरोध में किया गया बताया जाता है. अहमद को पीएमसीएच में भरती कराया गया.

पुलिस में दर्ज एफआईआर में शोमएल अहमद ने प्रोफेस एजाज अली अरशद और महिला साहित्यकार के पति का नाम लिया गया है. शौमएल अहमद को गंभीर चोट आयी है और उन्हें पीएमसीच के इमरजेंसी वार्ड में दाखिल कराना पड़ा.

 

अहमद ने बताया कि एक कार्यक्रम के बाहर वह एजाज अली अरशद के साथ बात कर रहे थे. इसी दौरान आसिफ नामक व्यक्ति आया और बात कहा सुनी में बदल गयी. इसी दौरान अरशद की मौजूदगी में उन पर हमला कर दिया गया.

इस संबंध में एजाज अली अरशद ने कहा कि वह शौमएल के साथ बात कर रहे थे. उन से उनकी कहानी लुंगी पर बहस होने लगी. उन्होंने कहा कि इस बारे में वह अपनी पूरी बात पुलिस के समक्ष रखेंगे, अगर पुलिस ने उनसे पूछताछ की तो.

गौरतलब है कि शौमएल अहमद की कहानी लुंगी एक प्रोफेसर और उसके अधीन रिसर्च करने वाली महिला स्कॉलरों के संबंधों पर आधारित है. यह कहानी एक समय में सोशल मीडिया पर काफी चर्चा का विषय बनी थी. जिस पर काफी विवाद भी हुआ था.

मीडिया सर्कल में इस हमले की काफी आलोचना हो रही है. उर्दू अकादमी के सचिव ने इस हमले की निंदा की है.

 

 

About Editor