मुद्दाविहीन राजनीति कर रही है भाजपा

पूर्व केन्द्रीय मंत्री और मधेपुरा संसदीय सीट से महागठबंधन के प्रत्याशी शरद यादव ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन पर मुद्दाविहीन राजनीति करने का आरोप लगाया और कहा कि राजग की अगुवाई करने वाली भारतीय जनता पार्टी ने पिछले पांच साल में देश की राजनीति को तुच्छ बना दिया है। 


लोकतांत्रिक जनता दल (लोजद) के अध्यक्ष श्री यादव ने बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री एवं हिंदुस्‍तानी आवाम मोर्चा (हम) प्रमुख जीतनराम मांझी और विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष मुकेश सहनी के साथ आज बेनीपट्टी विधानसभा क्षेत्र स्थित त्रिलोकनाथ हाई स्‍कूल, कलुआही में महागठबंधन के उम्‍मीदवार बद्री कुमार पूर्वे के लिए एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव प्रचार में राजग केवल मुद्दाविहीन राजनीति कर रही है। राजग को भरोसा हो गया है कि वह केन्द्र में सरकार नहीं बना पाएगी तो वह गैर-मुद्दे बाजार में फैला कर जनता के मुद्दों से भाग रही हैं।

पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने कहा, “मुझे कहते हुए दुख हो रहा है कि भाजपा ने पिछले पांच साल में राजनीति को तुच्छ बना दिया है। यह पार्टी हमेशा या तो झूठे वादों या गैर मुद्दों में उलझी रहती है। आम जनता को ऐसी चीजों से कोई लेना-देना नहीं है क्योंकि उन्हें बस इससे मतलब है कि कोई पार्टी तथा सरकार उनके कल्याण और विकास के लिए क्या कर रही है। उन्‍होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी हमला बोला और कहा कि महागठबंधन को मिले जनादेश का गला घोंटने वाले नीतीश कुमार को बिहार की जनता जरूर सबक सिखायेगी। जनता ने भाजपा के खिलाफ जनमत दिया था।

इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री श्री मांझी ने कहा कि लोकसभा चुनाव 2019 के अब तक चार चरण में संपन्न हो चुके मतदान में जनता ने महागठबंधन की जीत का संदेश दे दिया है। देश और संविधान बचाने की लड़ाई में बिहार की सभी 40 लोकसभा सीटों पर महागठबंधन की जीत तय है। राजग के लोगों ने सेना को अपनी जागीर समझ रखा है। उनके पास कोई मुद्दा नहीं हैं। यही वजह है कि आज कल जनसभाओं में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत राजग के सभी नेताओं का चेहरा उतरा रहता है।
हम के संयोजक ने कहा कि राजग नेताओं को अच्छी तरह पता है कि मोदी सरकार ने पांच साल में एक भी वादे पूर नहीं किये हैं। इसलिए, वे अब सेना, राष्‍ट्रवाद और धार्मिक बयानबाजी का सहरा लेकर लोगों में भ्रम पैदा कर हैं। लेकिन, देश के लोगों के लिए उनकी इस चाल से सावधान होकर महागठबंधन को चुनाव में जिताना समय की मांग बन गई है अन्यथा पूर्ववर्ती सरकार द्वारा किए गए विकास के कार्य मटियामेट हो जायेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*