श्रावणी मेले का शुभारंभ के साथ कांवर यात्रा शुरू

 ‘बोल बम’ और ‘हर हर महादेव’ के जयघोष के साथ एक माह तक चलने वाला बिहार का विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला आज से शुरू हो गया। भागलपुर जिले के सुल्तानगंज में आयोजित एक भव्य समारोह में राज्य के राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामनारायण मंडल एवं लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण मंत्री विनोद नारायण झा ने संयुक्त रुप से दीप प्रज्वलित कर मेला का विधिवत उद्घाटन किया।

श्री मंडल ने अपने संबोधन में कहा कि इस मेला में आने वाले कांवरिया को बेहतर सुविधाएं देने के लिए सरकार वचनबद्ध ह। इसे मेला राष्ट्रीय पहचान दिलाने के हरसंभव प्रयास किये जायेंगे। वहीं, मेला क्षेत्र में बिजली, पानी, सफाई और सुरक्षा की व्यापक व्यवस्था की गई है।  श्री मंडल ने कहा कि श्रद्धालुओं का यहां उत्तर वाहिनी गंगा का जल भरना पवित्र माना जाता है और इस दौरान उन्हें किसी तरह की असुविधा नहीं हो, इसका पूरा ख्याल रखा जा रहा है। विभिन्न सरकारी विभागों के अधिकारी एवं कर्मी लगातार चौबीस घंटे श्रद्धालुओं की सेवा में मौजूद रहेंगे।

उन्होंने कहा कि एक माह तक चलने वाले विशाल मानव श्रृंखला जैसे मेले से जुड़े भागलपुर, बांका और मुंगेर जिलों के तहत लंबे कांवरिया पथ पर श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए जगह-जगह पर पंडाल, शौचालय, स्वास्थ्य शिविर के साथ साथ सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन की व्यवस्था की गई है।
मंत्री ने कहा कि सुल्तानगंज से लेकर झारखंड की सीमा तक श्रद्धालुओं के लिए कांवरिया मार्ग को सुगम बनाया गया है और सभी जगहों पर सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए गए हैं। खासकर, भीड़-भाड़ वाले इलाके में पुलिस जवानों की पैनी नजर रहेगी।

इधर, मेला के शुभारंभ के साथ ही देश के विभिन्न हिस्सों से गेरुआ वस्त्रधारी श्रद्धालुओं का सुल्तानगंज पहुंचना शुरू हो गया है। इस दौरान सम्पूर्ण मेला परिसर और कांवरिया मार्ग ‘बोल बम’ एवं ‘हर हर महादेव’ के जयघोष से गूंजने लगा है। चारों ओर वातावरण भक्तिमय बन गया है।
सुल्तानगंज में देश- विदेश से आने वाले श्रद्धालु उत्तर वाहनी गंगा का पवित्र जल कांवर में भरते हैं और यहां से करीब 100 किलोमीटर की लंबी पैदल यात्रा करते हुए देवघर पहुंच कर बाबा बैधनाथ धाम के शिवलिंग पर जलाभिषेक करते हैं। यात्रा के दुर्गम रहने के बावजूद श्रद्धालुओं के हौसले एवं उनकी भक्ति में कमी नहीं होती है। प्रतिदिन श्रद्धालुओं का सैलाब पूरे कांवरिया मार्ग पर रहता है।

इस बीच भागलपुर के जिलाधिकारी प्रणव कुमार एवं वरीय पुलिस अधीक्षक आशीष भारती के अनुसार, पूरे माह तक चलने वाले मेले में श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए सफाई, पानी, चिकित्सा और सुरक्षा को प्राथमिकता दी गई है। समूचे मेला क्षेत्र और कांवरिया मार्ग में श्रद्धालुओं के सैलाब के बीच सादे लिबास में पुलिस बल तैनात रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*