सिर्फ 24 घंटे में राजद ने पांच और जदयू ने एक नेता को खोया

सिर्फ 24 घंटे में राजद ने पांच और जदयू ने एक नेता को खोया

यह कठिन समय है। 24 घंटे में राजद के पांच, जदयू के एक नेता की मौत हो गई। गांवों में बिना इलाज के लोग मर रहे हैं। उनका डेटा सरकार इकट्ठा कर परिजनों को मदद दे।

पूर्व मंत्री तेज प्रताप यादव के साथ अतिफ अमीन (दाएं)

पिछला 24 घंटा राजद के लिए बेहद दुखद रहा है। उसके पांच नेताओं का असमय निधन हो गया। इसमें कई युवा थे। दो महिलाएं थीं। जदयू के भी एक राज्य स्तर के नेता की मौत हो गई।

अतरी से राजद की पूर्व विधायक कुंती देवी का निधन हो गया। विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने उनके निधन पर गहरा शोक जताया है। ओबरा के विधायक ऋषि कुमार ने जानकारी दी कि राजद ने प्रदेश महिला सेल की सचिव ललिता देवी को खो दिया। उन्होंने कहा कि राज्य में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से एक महिला नेता की जान गई।

मधेपुरा के राजद नेता रंजन कुमार ने ट्विट करके जानकारी दी कि जिले के राजद नेता रणवीर यादव नहीं रहे। उन्होंने श्रद्धांजलि देते हुए बताया कि राजद नेता की मौत कोरोना संक्रमण के कारण हुई। उनका इलाज पटना में चल रहा था।

पीएम-सीएम मीटिंग पर बवाल, केजरीवाल, ममता ने लगाए आरोप

पूर्व मंत्री और राजद नेता तेजप्रताप यादव ने ट्विट किया-बिहार की जानलेवा स्वास्थ्य व्यवस्था ने हमारा एक मजबूत सिपाही छीन लिया। हसनपुर (समस्तीपुर) के युवा राजद के नेता आतीफ अमीन की कोरोना से मौत हो गई।

युवा राजद के अध्यक्ष कारी सोहैब ने बताया कि युवा राजद के प्रदेश महासचिव आतिफ अमीन नहीं रहे। उन्होंने अमीन को छोटा भाई बताया और कहा कि वे अनमोल रत्न थे। उन्होंने अपना पूरा जीवन समाज के लिए समर्पित कर दिया था। राजद से मिली जानकारी के अनुसार एक और नेता का निधन हुआ है।

पटना में पीपा पुल से गंगा में गिरा वाहन,9 की मौत, दस लापता

उधर, जदयू के लिए भी आज शोक का दिवस है। पार्टी के बेगूसराय के पूर्व जिलाध्यक्ष भोलाकांत झा का निधन हो गया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनके निधन पर शोक जताया है। उन्होंने स्व झा को पार्टी का अनुशासित कार्यकर्ता बताते हुए श्रद्धांजलि दी।

गांवों में भी मौतों का सिलसिला जारी है। सरकार को चाहिए कि वह ऐसे लोगों का डेटा इकट्ठा करे और मृतकों के परिजनों को जरूरी मदद पहुंचाए। अनेक परिवार दाह-संस्कार के लिए कर्ज लेने पर मजबूर हैं। उन तक अगर सरकार कोई मदद पहुंचाएं, तो पीड़ितों का दर्द थोड़ा कम किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*