स्थिति भयावह, एक ही चिता पर पांच-पांच शव जलाए जा रहे

स्थिति भयावह, एक ही चिता पर पांच-पांच शव जलाए जा रहे

स्थिति कितनी भयावह है, इसका अंदाज इसी से लगा सकते हैं कि सूरत में एक ही चिता पर पांच शव जलाए गए। उधर, गृहमंत्री आज भी प. बंगाल चुनाव में रोड शो कर रहे हैं।

देश में कोरोना की दूसरी लहर ने स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल खोलकर रख दी है। द क्विंट के अनुसार गुजरात में कोरोना से मौत के बाद शवों को जलाने के लिए लाइन लगी है। एक ही चिता पर पांच-पांच शव जलाए जा रहे हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार गुजरात के सिर्फ दो सरकारी अस्पतालों में नौ दिनों में 350 मौतें हुईं, पर सरकार पूरे वड़ोदरा जिले में 300 लोगों की मौत ही मान रही है।

रो पड़ा सीतलकुची, सौ भाषणों पर भारी एक तस्वीर

भोपाल की एक खबर को दैनिक भास्कर ने पहले पन्ने पर प्रमुखता से प्रकाशित किया है। अखबार ने लिखा है-सरकार के मौत के आंकड़े झूठे हैं। ये जलती चिताएं सच बोल रही हैं। 112 मौतें। सरकार कह रही सिर्फ चार मरे। अखबार ने एक साथ जलती अनेक चिताओं की तस्वीर भी प्रकाशित की है।

देश के हर हिस्से में कोरोना से हाहाकार मचा है। अस्पतालों में बेड खत्म हो गए हैं। आक्सीजन खत्म है। दवाएं नहीं मिल रहीं। उत्तर प्रदेश सरकार ने नया आदेश जारी कर दिया है कि मास्क नहीं पहनने पर एक हजार रुपए दंड देना होगा। दूसरी बार नियम तोड़ने पर 10 हजार रुपए दंड देना होगा। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी कुछ कड़े कदम उठाने की मांग की है। कर्नाटक सरकार ने 60 लाख टीके की मांग की है।

उधर, देश के गृहमंत्री अमित शाह ने आज प. बंगाल के कृष्णानगर में रोड शो किया। इसमें सोशल डिस्टेंसिंग का सवाल ही कहां। इस बीच ममता बनर्जी ने फिर दुहराया कि कोरोना को देखते हुए शेष चार चरणों के चुनाव एक साथ कराए जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*