सुषमा स्‍वराज के निधन पर शोक संदेशों का तांता

भाजपा की वरिष्ठ नेता एवं पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर शोक संदेशों का तांता लगा हुआ है। राज्यपाल फागू चौहान ने भाजपा की वरिष्ठ नेता एवं पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर गहरी शोक-संवेदना व्यक्त की। उन्‍होंने कहा कि देश ने एक महान विदूषी, राष्ट्रभक्त, अत्यन्त लोकप्रिय और मानवीय संवेदना से परिपूर्ण राजनेत्री को खो दिया है।

उनके प्रशंसक सभी दलों में थे। उनके निधन से राष्ट्र को अपूरणीय क्षति हुई है। राज्यपाल ने दिवंगत आत्मा को चिरशांति और उनके परिजनों और प्रशंसकों को धैर्य-धारण की क्षमता प्रदान करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने शोक सन्देश में कहा है कि श्रीमती स्वराज एक प्रखर वक्ता, ओजस्वी एवं कुशल नेत्री के साथ-साथ विलक्षण प्रतिभा की धनी थी। देश हित एवं लोक-कल्याण के क्षेत्र में उनके द्वारा किये गए कार्यों को देश हमेशा याद रखेगा। उन्‍होंने कहा‍ कि उनकी कमी हमेशा खलेगी।

अपने शोक संदेश में उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि भारतीय राजनीति की सशक्त नेत्री, प्रखर वक्ता, पूर्व विदेश मंत्री एवं भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज ने पार्टी और सरकार में अपनी हर भूमिका का बेहतरीन निर्वहन करते हुए हमेशा उच्च मानक स्थापित किये हैं। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे देश और पार्टी के साथ ही उनका निधन मेरी व्यक्तिगत क्षति है। उन्होंने कहा कि भाजपा और भारतीय राजनीति में श्रीमती स्वराज का स्थान हमेशा रिक्त रहेगा, जिसकी भरपाई संभव नहीं है। उनका अचानक हमारे बीच से सदा के लिए चली जाना स्तब्धकारी और अत्यंत दुखदायी है।

राजद विधानमंडल दल की नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने सुषमा स्‍वराज के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की। राबड़ी देवी और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने अपने शोक संदेश मे कहा कि श्रीमती स्वराज एक जुझारू, मिलनसार और कर्मठ राजनेता थी। उन्होंने 25 साल की उम्र मे ही राजनीति के क्षेत्र मे अपना मुकाम बना लिया था। वह निरंतर राजनीत के क्षेत्र मे आगे बढ़ती रहीं। उन्हें सब से कम उम्र मे महिला मंत्री बनने का सौभाग्य प्राप्त था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*