तेजस्वी:भ्रष्टाचार के पितामह, अपराध के संरक्षक नीतीश मुझे गिरफ्तार करें

तेजस्वी:भ्रष्टाचार के पितामह, अपराध के संरक्षक नीतीश मुझे गिरफ्तार करें

RJD नेता तेजस्वी यादव ने जनता से आह्वान किया है कि हिटलर बने व संघ से जमीर का सौदा कर चुके नीतीश जनता के मौलिक अधिकारों का सौदा करना चाहते हैं. हम किसी कीमत पर ऐसा नहीं होने देंगे.

वहीं राजद ने ट्वीटर पर लिखा कि बिहार में @NitishKumar के रूप में हिटलर का पुनर्जन्म हुआ है! इस तुगलकी आदेश के शब्दों के जाल में मत फँसीए! इनके शब्दकोष में जो आज ‘आपत्तिजनक’ है कल निरंकुश ‘सरकार का आलोचना’ बन जाएगा! ज़िंदा हैं तो अभिव्यक्ति की आजादी पर कुठाराघात मत सहिए! राजद है खड़ा! जम कर आलोचना कीजिए!

दर असल तेजस्वी यादव और उनकी पार्टी ने ये आधिकारिक टिप्पणी तब की है जब सरकार की आर्थिक अपराध इकाई के अपर पुलिस महानिदेशक नैयर हसनैन खान ने सरकार के तमाम महकमों के प्रधान सचिवों को पत्र लिख कर कहा है कि सोशल मीडिया, इंटरनेट पर मंत्रियों, सांसदों, विधायकों और अधिकारियों के खिलाफ अभद्र, आपत्तिजनक टिप्णी की जाती है. ऐसे लोगों, संगठनों को चिन्हित करें ताकि उनके खिलाफ साइबर अपराध के अंतरगर्त कार्रवाई की जाये.

इस पत्र के जारी होने के बाद अनेक लोगों ने सवाल उठाया है कि आपत्तिजनक या अभद्र टिप्पणी तो बहाना है. बस यह अभिव्यक्ति की आजादी के खिलाफ अंकुश लगाने का की कवायद है. इस मुद्दे को राजद ने साफ करते हुए ट्वीट किया है कि इनके शब्दकोष में जो आज ‘आपत्तिजनक’ है कल निरंकुश ‘सरकार की आलोचना’ बन जाएगा! ज़िंदा हैं तो अभिव्यक्ति की आजादी पर कुठाराघात मत सहिए! राजद है खड़ा! जम कर आलोचना कीजिए!

इस मुद्दे पर विपक्ष के नेता ने नीतीश सरकार पर आक्रमण की बौछार सी कर दी. उन्होंने ताबड़तोड़ ट्वीट करते हुए लिखा कि 60 घोटालों के सृजनकर्ता नीतीश कुमार भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह, दुर्दांत अपराधियों के संरक्षकर्ता, अनैतिक और अवैध सरकार के कमजोर मुखिया है। बिहार पुलिस शराब बेचती है। अपराधियों को बचाती है निर्दोषों को फँसाती है। CM को चुनौती देता हूँ- अब करो इस आदेश के तहत मुझे गिरफ़्तार।

तेजस्वी ने एक अन्य ट्वीट में लिखा है कि लोकतंत्र की जननी बिहार में संघी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लोकतंत्र की ही धज्जियाँ उड़ा रहे है। ऐसे कारनामे ही क्यों करते है कि शर्मिंदा होना पड़े? आपने अपना ज़मीर, सिद्धांत और विचार का सौदा तो भाजपा-संघ से कर लिया लेकिन आमजनों के मौलिक अधिकारों का हरगिज़ नहीं करने देंगे। समझ जाइए!

लालू स्टाइल में तेजस्वी ने डीएम को किया फोन, लूटी महफिल

उधर तेजस्वी की इस टिप्पणी के बाद जनता दल यू के प्रवक्ता रहे अजय आलोक ने जवाब में निम्नस्तरी टिप्पणी करते हुए तेजस्वी को कहा- जो ज्ञानी व्यक्ति इसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का मामला बता रहे हैं उन्हें ये जानना चाहिए की सोशल मीडिया पे कायरों की तरह माँ बहन की गाली, रेप करने क़त्ल करने की धमकी को अब बर्दाश्त नहीं करेंगे — जो उखाड़ना हैं उखाड़ लो — अब अश्लीलता करोगे तो नपोगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*