तेजस्वी ने इशारों में बता दिया किससे और क्यों डरते हैं नीतीश

तेजस्वी ने इशारों में बता दिया किससे और क्यों डरते हैं नीतीश

बिहार में विपक्ष के नेता तजस्वी यादव ने इशारों-इशारों में बता दिया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मोदी-शाह की जोड़ी से डरते हैं। डरने की वजह भी बता दी।

जातिगत जनगणणना पर तेजस्वी ने लिखा पीएम को पत्र

बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने बता दिया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार किस प्रकार केंद्र की सत्ता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भाजपा से डरते हैं। यह अटल बिहारी वाजपेयी वाली भाजपा नहीं है, यह मोदी-शाह की भाजपा है।

तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार के सभी राजनीतिक दलों ने सर्वसम्मति से राज्य में जातीय जनगणना के लिए प्रस्ताव पारित किया। सभी दलों का संयुक्त प्रतिनिधि मंडल प्रधानमंत्री मोदी से भी मिला, लेकिन केंद्र ने जातीय जनगणना से इनकार कर दिया। मुख्यमंत्री ने कहा था कि राज्य सरकार अपने खर्चे पर प्रदेश में जातीय जनगणना कराएगी। लेकिन पांच महीने हो गए मुख्यमंत्री ने चुप्पी साध ली है। तेजस्वी ने इशारों में बता दिया कि चूंकि प्रधानमंत्री मोदी ने जातीय जनगणना से मना कर दिया, ऐसे में अगर नीतीश कुमार जातीय जनगणना कराने की तरफ कदम बढ़ाते हैं, तो यह प्रधानमंत्री की इच्छा के विपरीत कदम होगा। ऐला करने से मुख्यमंत्री की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने आज ट्वीट किया-जातीय जनगणना को लेकर अगस्त में PM से मिले। सितंबर में केंद्र ने जातीय जनगणना से मना किया। अक्टूबर में CM ने कहा जल्दी ही सर्वदलीय बैठक बुलायेंगे।दिसंबर में हमने CM से बैठक बुलाने की याद दिला, पुनःआग्रह किया। पता नहीं अब 5 महीनों बाद भी नीतीश जी किस डर से बैठक नहीं बुला पा रहे है?

देश के कई मुख्यमंत्री आईएएस नियमावली में बदलाव से लेकर कई अन्य सवालों पर प्रधानमंत्री मोदी की आलोचना कर रहे हैं। जल्दी ही ये मुख्यमंत्री केंद्र के दोहरे रवैये के खिलाफ दिल्ली में मीटिंग करनेवाले हैं। लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पता नहीं क्यों चुप हैं।

सोनिया गांधी पर अभद्र टिप्पणी के खिलाफ Biswa का पुतला फूंका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*