छात्रों की मौत: सत्ताधारियों की चुप्पी पर तेज्सवी का ट्विट अभियान, इस BJP नेता को बताया ‘कातिल’ सलाखों तक पहुंचाने का बनाया दबाव

मुजफ्परपुर में 33 बच्चों को रौंदने और 12 की मौत के घात उतारने वाले बोलेरो मालिक को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पा रही है. गाड़ी भाजपा के प्रदेश मंत्री मनोज बैठा की है. जदयू भाजपा के प्रवक्ताओं में स्ट्रैटजिक खामोशी है. लेकिन तेजस्वी चुप नहीं हैं. वह लगातार ट्विटर अभियान चला रहे हैं. उन्होंने मनोज बैठा की सीएम नीतीश कुमार के साथ वाली तस्वीर शेयर की है. कह रहे हैं कि ‘हत्यारे’ को  नीतीश-सुशील बचाने में लगे हैं.

मोदी संग मनोज बैठ

शनिवार को मुजफ्फर एनच 77 को पार करते हुए एक बोलेरो ने 33 बच्चों को रौंद डाला. घटना स्थल पर 9 बच्चे जावन गंवा बैठे. 3 ने बाद में दम तोड़ा. तेजस्वी ने मुजफ्फरपुर अस्पताल का भ्रमण किया. पीडितों की सांत्वना दी. लेकिन पुलिस  उस गाड़ी मालिक या चालक को अभी तक पकड़ने में कामयाब नहीं हुई है. मीडिया में दुर्घटना को अंजाम देने वाले बोलेरो की तस्वीर छपी है. इस पर नेम प्लेट है जिस पर मोनज बैठा, प्रदेश मंत्री भाजपा, लिखा है. सवाल किया जा रहा है कि क्या सत्ताधारी दल का रसूखदार नेता होने के कारण मनोज बैठा को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गाया?

सीएम का अभिवादन करते मनोज बैठा

आम मुद्दों पर जदयू के प्रवक्ता दिन रात बयान दिया करते हैं. भाजपा नेता सुशील मोदी, मंगल पांडेय समेत तमाम नेता हर मुद्दे पर गरजते रहते हैं. नेता प्रतिपक्ष ने सत्ताधारियों की खामोशी पर उन्हें ललकारने में जुटे हैं. उन्होंने ताबड़तोड़ हमले शुरू कर दिये हैं और ‘हत्यारे’ को गिरफ्तार करने की मांग की है. तेजस्वी ने लिखा है कि 12 मासूम बच्चों को मारने वाला और 35 स्कूली बच्चों को निर्ममता से रौंदने वाला बीजेपी का क़ातिल और भगौडा नेता अभी भी गिरफ़्तारी से बाहर। नीतीश कुमार और सुशील मोदी के सीधे संरक्षण में उसे अभी तक गिरफ़्तार नहीं किया गया है। नीतीश कुमार जी यह सुशासन नहीं थू+शासन है.

नंदकिशोर यादव के साथ भी

तेजस्वी ने सवाल उठाया है कि शराबबंदी के बावजूद उसे शराब कहाँ से मिली? क्या प्रशासन इतना नकारा है कि उस व्यक्ति को गिरफ़्तार नहीं कर सकता? यही है सुशासनी ढोंग? CM नीतीश Deputy CM मोदी मौन क्यों है?

 

तेजस्वी ने मनोज बैठा की अनेक तस्वीरें शेयर की हैं. बैठा नीतीश कुमार , सुशील मोदी, राधामोहन सिंह और नंदकिशोर यादव के साथ अलग अलग आयोजनों में मौजूद हैं. तेजस्वी ने पूछा है कि मुजफ़्फ़रपुर में 35 बच्चों को रौंदने और 12 बच्चों को दर्दनाक मौत की नींद सुलाने वाले बीजेपी के इस महामंत्री को उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी क्या नहीं जानते? सुशील मोदी और नीतीश कुमार के संरक्षण की वजह से नशे में धुत्त ये नेता और इनका ड्राइवर अभीतक पकड़ा नहीं गया है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*