तेजस्वी से मिलने पहुंचे चिराग, लालू की रणनीति होगी कामयाब!

तेजस्वी से मिलने पहुंचे चिराग, लालू की रणनीति होगी कामयाब!

आज लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव से मिलने उनके आवास पहुंचे। क्या राजद प्रमुख लालू प्रसाद की इच्छा होगी पूरी?

कुमार अनिल

हर चीज पल-पल बदल रही है, राजनीति भी। आज लोजपा के अध्यक्ष और सांसद चिराग पासवान विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव से मिलने उनके आवास पहुंचे। हालांकि चिराग पासवान अपने पिता रामविलास पासवान की पहली बरसी के लिए खुद आमंत्रण देने तेजस्वी के यहां पहुंचे थे, लेकिन इसके साथ ही लालू प्रसाद की उस इच्छा की याद बरबस लोगों को आ रही है, जिसमें राजद प्रमुख ने पिछले महीने दिल्ली में पत्रकारों से बात करते हुए कहा था कि उनकी इच्छा है कि रामविलास पासवान के बेटे चिराग पिसवान और तेजस्वी यादव एक साथ मिलकर काम करें। लालू ने तब यह भी कहा था कि चिराग पासवान में बड़ी संभावना है।

लालू प्रसाद की इच्छा पूरी होने की संभावना के दो आधार हैं। पहला, चिराग पासवान खुद पिता की बरसी का आमंत्रण देने तेजस्वी के आवास पहुंचे। यह आमंत्रण वे किसी दूसरे के हाथ भी भिजवा सकते थे। लेकिन खुद पहुंचने का अर्थ है कि वे तेजस्वी को पूरी महत्व दे रहे हैं। दूसरा, चिराग ने पिता की बरसी पर यूपीए के अन्य दलों को भी आमंत्रित किया है, खासकर उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी आमंत्रित किया है।

लालू प्रसाद ने पिछले महीने कहा था कि चिराग और तेजस्वी साथ आएं। अगर दोनों साथ आते हैं, तो बिहार की राजनीति एकदम से बदल जाएगी। राजनीतिक-सामाजिक संतुलन पूरी तरह यूपीए की तरफ झुक जाएगा।

एक तीसरी बात भी गौर करनेवाली है। तेजस्वी और चिराग दोनों ही नीतीश सरकार के खिलाफ हैं। यह भी दोनों के बीच एकता का आधार है। इसके साथ ही यह भी ध्यान देनेवाली बात है कि अबतक चिराग को भाजपा की तरफ से कभी कोई सहयोग नहीं मिला। चिराग ने अपनी तरफ से भाजपा के खिलाफ कभी कुछ नहीं कहा, लेकिन भाजपा ने कभी तवज्जो नहीं दी।

हालांकि यही बात तेजस्वी और चिराग के बीच की दूरी भी बताती है। फिर भी दोनों नेताओं का मिलना अपने आप में महत्वपूर्ण है और इसे भाजपा और जदयू कभी भीतर से पसंद नहीं करेंगे। अब देखिए बिहार की राजनीति किस करवट लेती है।

चिराग ने पिता की बरसी पर चाचा को जोड़ा, मोदी-सोनिया को बुलाया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*