भ्रष्टाचार पर नीतीश ने छोड़ा था राजद का साथ, उसी भ्रष्टाचार पर तेजस्वी ने दागे नीतीश से 10 सवाल

राजद का साथ छोड़, भाजपा के साथ सरकार बनाने के कारणों को बताते हुए नीतीश ने कहा था कि वह भ्रष्टचार से समझौता नहीं कर सकते. लेकिन अब तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर भाजपा से जुड़े भ्रष्टाचार पर दस सवालों की बौछार कर दी है.

 

ये हैं तेजस्वी के सवाल

अपनी सुविधानुसार अंतरात्मा को जगाने और सुलाने वाले नीतीश कुमार जी बिहार की जनता को इन सवालों का जवाब दें-

1:- जिस पार्टी के साथ गठबंधन में इनकी अंतरात्मा ने शरण ली, उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष के बेटे पर ही इतनी बड़ी धांधली के बाद नीतीश कुमार जी चुप कैसे बैठे हैं? अब इनकी अंतरात्मा सुप्तावस्था में क्यों चली गई है?

2:- क्या नीतीश ₹50 हज़ार की कम्पनी का मोदी सरकार की शह में उनके अध्यक्ष रातों रात ₹80 करोड़ की कम्पनी बन जाने का अर्थशास्त्र समझाएंगे? क्या नीतीश जी भ्रष्टाचार का लड्डू खाने बीजेपी के साथ रातों-रात भागे है?

3:- सुशील मोदी GST Council के अध्यक्ष बने बैठे हैं और इतने महत्व के पद पर बैठकर अपने भाई के काले कारनामों को पूरा शह और संरक्षण दिए हैं, क्या यह भ्रष्टाचार नीतीश जी को नहीं दिखता?

4:- सुशील मोदी ने अपने भाई को शेल कम्पनियों में काला धन घुमाने की ट्रेनिंग दी है। क्या मुख्यमंत्री नीतीश जी अपने परम मित्र सुशील मोदी से काले धन की एंट्री घुमाने का प्रशिक्षण ले रहे है?

5:- नीतीश कुमार जरा बिहार की जनता को समझाएं कि सुशील मोदी के भाई की कम्पनी ने कैसे हज़ारों करोड़ की एंट्री घुमाई है? नीतीश जी बताए कि सुशील मोदी पर 120B और 420 सहित अनेक संगीन मामले दर्ज क्यों है?

6:- नीतीश बताए सांप्रदायिकता और आरएसएस जैसी विघटनकारी ताक़तो को पालना ही उनका छद्म समाजवाद है क्या?

7:- देश जानना चाहता है नीतीश जी की विचारधारा और सिद्धांत क्या है? उनके मुँह से सिद्धांत और विचार की बात घोर बेईमानी है। जिस व्यक्ति ने कुर्सी के लिए हर घाट का पानी पीया है वह सिद्धांत की बात करे यह हास्यास्पद है।

8:- नीतीश जी बताए वो कुर्सीवादी है या दक्षिणपंथी है?

9:- नीतीश जी अहंकारवश बोल रहे है। ज़्यादा अभिमान है तो अपनी ही सरकारी एजेन्सी से सर्वे करवा लीजिये। जनता बता देगी जनादेश का डकैत कौन है?

10:- क्या नीतीश जी में हिम्मत है कि वो बीजेपी के भ्रष्टाचार पर मुँह खोल सके?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*