तेजस्वी का सरकार पर हमला कहा कुत्ते-बिल्ली की लड़ाई बंद करो

तेजस्वी का सरकार पर हमला, कहा कुत्ते-बिल्ली की लड़ाई बंद करो.

तेजस्वी का सरकार पर हमला, कहा कुत्ते-बिल्ली की लड़ाई बंद करो.

 

बिहार में आये जल-प्रलय पर चिंता जताते हुए तेजस्वी यादव ने बीजेपी-जेडीयू के नेताओं के एक दूसरे पर आरोप लगाते देख, इनको कुत्ते-बिल्ली वाली लड़ाई कह कर जोरदार हमला बोला है.

बिहार की ऐसी दुर्दशा देख तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर सवालों की बौछार कर दी है. उन्होंने कहा है कि लोगों को राहत पहुंचाने के बजाये, ये बीजेपी-जेडीयू के नेता लोग एक-दुसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं.

कुत्ते-बिल्ली की लड़ाई

उन्होंने कहा कि  इनके कुत्ते-बिल्ली की लड़ाई में लोगों का भारी नुकसान हो रहा है. आगे तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए उनसे पूछा है कि क्या नीतीश कुमार ने इसी दिन के लिए बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बनाई थी, ताकि लोगों को ऐसी परेशानियों में मरता छोड़ सके?

आग बोबूला हुए तेजस्वी ने सुशील मोदी को कहा- ‘फ्रॉड, दोग़ला, धंधेबाज और फरेबी’

तेजस्वी ने नीतीश पर इल्जाम लगाते हुए कहा कि दिनदहाड़े जनादेश की डकैती कर जनभावना का अपमान करने वाले मुख्यमंत्री बतावें कि क्या इसी दिन के लिए वो जनादेश का अपमान कर भाजपा संग बिना निति, सिद्धांत और विचारों की अनैतिक सरकार बनाई थी?

उन्होंने कहा कि  मूख्यमंत्री बताये कि ऐसी डबल इंजन की सरकार से लोगों को क्या फायदा हुआ?

तेजस्वी ने सरकार के नाकामयाबियों को गिनाते हुए कहा कि प्रतिदिन बिहार के लोगों को आपके अनैतिक कुर्सी प्रेम की सजा भुगतनी पड़ा रही है. अब आप जनता के अंतरात्मा की आवाज सुनिए.

 

एक-दुसरे पर आरोप लगा रही बीजेपी-जेडीयू 

फैसला से पूर्व तेजस्‍वी ने कहा – RJD जनता की पार्टी, नहीं टूटेगी, भाजपा को सिखायेगी सबक

गौरतलब है कि बिहार में हुए जल-प्रकोप से सरकार की विफलता साफ़ दिख रही है. जिसके बाद अख़बारों में साफ़ देखने को मिल रहा है कि कैसे बीजेपी और जेडीयू के नेता आपस में लड़ रहे तथा इस जल-प्रलय का ठीकरा एक-दुसरे पर फोड़ रहे है. जेडीयू ने भाजपा को इसका जिम्मेदार ठहराया  है.

 

वहीँ भाजपा नेता व केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि मैंने जिम्मेदारी ली है, जनता से माफी मांगी, जदयू भाजपा पर आरोप न लगाये. वहीँ रामकृपाल यादव ने जल-प्रकोप का सारा ठीकरा अफसरों पर फोड़ते हुए उन्हें निकम्मा तक बोल दिया. नेताओं के इस तरह लड़ने से एक बात तो साफ़ होती जा रही है कि सरकार विकट परिस्थितियों में जनता की मदद करने में पूरी तरह से विफल रही है. जिसका भारी नुकसान आम जनता को ही उठाना पड़ रहा है.

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*