मूलनिवासियों को वैचारिक आतंकवादी कहने पर राम देव की ट्विटर पर भारी फजीहत

मूलनिवासी आंदोलन को वैचारिक आतंकवाद बताने और पेरियार का अपमान करने  वाले बाब Ram Dev के खिलाफ ट्विटर पर लोगों ने जबर्दस्त हमला बोल दिया है.

पिछले तीन दिनों से #रामदेवचोर है, #ArrestRamdev #रामदेवठगहै, #बायकाटपतंजलि प्रोडक्ट और #रामदेवगद्दारहै जैसे हैशटैग ट्रेंड कर रहे हैं. उधर आल इंडिया अम्बेडकर महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक भारती ने तो 19 नवम्बर को राम देव की कम्पनी पतंजलि के उत्पादों को सार्वजनिक रूप से आग लगाने की घोषणा कर दी है.

दर असल पिछले दिनों बाबा राम देव ने एक इंटर्व्यू में कहा था कि पेरियार नास्तिक था और उसने हमारे पूर्वजों की मूर्तियों पर जूते की माला पहनाई थी. राम देव ने कहा था कि इन दिनों एक मूलनिवासी आंदोलन चल रहा है. उनका कहना है कि मूलनिवासी इस देश के असल नागरिक हैं और बाकी विदेशी हैं. उन्होंने मूलनिवासी आंदोलन को वैचारिक आतंकवाद बताया था.

 

इसी तरह एक अन्य इंटर्व्यू में राम देव ने असदुद्दीन ओवैसी को गद्दार तक कहा था. इसके जवाब में एआईएमआई एम समर्थकों ने #रामदेवगद्दार  है का हैशटैग ट्रेंड कराया था.

उधर दिलीप मंडल ने भी रामदेव के बयान के बाद अनेक ट्विट किये और कहा पेरियार राख के नीचे सुलगती आग है. कुरेदो मत.

क्योंकि साथ में बाबा साहेब, फुले, सावित्री बाई, फातिमा, शाहू, नारायणा गुरु, अयंकली, चोखामेला, कबीर, रैदास, बुद्ध, जगदेव प्रसाद, रामस्वरूप वर्मा, कर्पूरी ठाकुर, ललई यादव…सब निकल आएंगे.

 

 

पिछले तीन हफते से दलित, आदिवासी, अल्पसंख्यक समुदाय के लोग एकजुट हो कर अपने विरोधी विचारधारा के लोगों पर ट्विटर पर हमला बोल रहे हैं.

राम देव ने दी सफाई

इसबीच राम देव ने ट्विट कर कहा है कि पतंजलि के उत्पाद के विरोध करने वालों को पता होना चाहिए कि इन उत्पादों का लाभ देश हित में खर्च किया जाता है.

 

Related link

Twitter के जातिवादी रवैये के खिलाफ Bhim Army की बगावत, जड़ा दफ्तर पर ताला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*