उठी आवाज, गोदी मीडिया के खिलाफ अब चले आंदोलन

उठी आवाज, गोदी मीडिया के खिलाफ अब चले आंदोलन

गोदी मीडिया ने हद कर दी। राहुल ने दलित बच्ची से रेप, हत्या पर सवाल उठाया, तो उन्हीं के खिलाफ खड़े हो गए। संसद की कार्रवाई में भी सिर्फ भाजपा दिखाते हैं।

देश का गोदी मीडिया अब सारी हदें पार गया है। सीएए विरोधी आंदोलन में शामिल महिलाओं को पांच सौ रुपए पर शामिल होनेवाली बताया। किसान आंदोलन को खालिस्तानी, पाकिस्तानी और न जाने क्या-क्या कहा। अब दिल्ली में एक नौ साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म, हत्या और पुलिस को बिना बताए शव जला दिए जाने के बाद जब कांग्रेस नेता राहुल गांधी पीड़ित माता-पिता से मिलने पहुंचे, तो गोदी मीडिया ने हद कर दी।

जी न्यूज ने चलाया-दलित की बेटी राहुल के लिए टूल। इसके बाद सोशल मीडिया पर जी-न्यूज के खिलाफ लोग मुखर होकर आवाज उठा रहे हैं। लेखक, पत्रकार, कार्यकर्ता गोदी मीडिया के खिलाफ अब आंदोलन का आह्वान कर रहे हैं।

लेखिका सुमन केसरी ने आक्रोशित होकर लिखा- राहुल गांधी को तुरंत जी-न्यूज पर मानहानि का क्रिमिनल मुकदमा दायर करना चाहिए! पत्रकार प्रशांत टंडन ने ट्वीट किया-ये ज़ी न्यूज़ क्या अपराध कर रहा है। जिस नौ साल की बच्ची का रेप करके हत्या कर दी गई उसे “टूल” बता रहा है। राहुल गांधी के खिलाफ एजेंडा चलाना है तो उसके दस तरीके हैंं, पर ये क्या बद्तमीज़ी है कि आप दलित की बेटी को “टूल” बतायेंगे। इसका विरोध होना चाहिए।

प्रशांत टंडन ने यह भी कहा- अभी ये मीडिया और उग्र होगा, सीधे सीधे हिंसा भड़कायेगा, गाली गलौज पर उतरेगा. ये भारतीय समाज और राजनीति का पुष्यमित्र शुंग काल है. सभ्य समाज को बचाने की खातिर इस मीडिया के खिलाफ आंदोलन खड़ा करना होगा. नीचे लिंक के ज़रिए वीडियो को देखिये.

कांग्रेस ने राहुल गांधी का वक्तव्य ट्वीट किया- एक छोटी-सी बच्ची का बलात्कार हुआ, उसकी हत्या हुई। क्या आपने मीडिया में कहीं देखा।

सोशल मीडिया पर लोग पूछ रहे हैं कि निर्भया कांड के समय जब भाजपा नेता आवाज उठा रहे थे, तब यही मीडिया खूब दिखा रहा था। आज वही मीडिया दलित की बोटी को टूब बता रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*