विजय हजारे टूर्नामेंट में बिहार हारा, पर बाबुल कुमार चमके

विजय हजारे टूर्नामेंट में बिहार हारा, पर बाबुल कुमार चमके

आज विजय हजारे एकदविसीय टूर्नामेंट में बिहार की टीम उड़िसा से हार गई, लेकिन बिहार के बाबुल कुमार ने संघर्षशील पारी खेली और 78 रन बनाए।

बीसीसीआई द्वारा आयोजित घरेलू टूर्नामेंट विजय हजारे एकदिवसीय ट्रॉफ़ी में आज बिहार और उड़ीसा के बीच बिहार का चौथा मुकाबला एलुर क्रिकेट स्टेडियम बेंगलुरु में खेला गया। मैच में उड़ीसा टीम बिहार को 7 विकेट से पराजित कर अपनी झोली में सभी 4 अंक डालने में सफल रही।

बीसीए मीडिया कमेटी के संयोजक कृष्णा पटेल ने बताया कि आज सुबह टॉस बिहार के कप्तान आशुतोष अमन जीता और पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया। इस निर्णय को सही साबित करते हुए बिहार की पारी की शुरुआत करने आए सलामी बल्लेबाज मंगल महरुर और सकीबुल गनी ने ठोस शुरुआत दिलाई।

जब बिहार की पारी का कुल स्कोर 95 रन हुआ तभी 21 वें ओवर की आखिरी गेंद पर बिहार को पहला झटका सकीबुल गनी के रूप में लगा। वो 48 रन के व्यक्तिगत स्कोर पर अपना संयम खो बैठे और अर्धशतक लगाने से चूके। उन्हें शांतनु मिश्रा ने अपना शिकार बनाते हुए संदीप पटनायक के हाथों कैच कराकर पवेलियन का रास्ता दिखाया।

बिहार को दूसरा झटका 98 रन के योग पर लगा जब सलामी बल्लेबाज मंगल महरुर 38 रन के व्यक्तिगत स्कोर पर शांतनु का शिकार बने जिसे अंकित यादव के हाथों कैच कराकर चलता किया। तीसरा झटका बिहार को 99 रन के योग पर लगा जब यशस्वी ऋषभ को शांतनु मिश्रा ने प्रवीण कुमार लुहा के हाथों कैच कराकर पवेलियन का रास्ता दिखाया।

बिहार की लड़खड़ाती पारी को बाबुल कुमार और शशीम राठौर का सहारा मिला, लेकिन जब बिहार टीम संभलती नजर आ रही थी तभी 148 रन के योग्य पर बिहार को चौथा झटका शशीम राठौर के रूप में लगा जब 27 रन के व्यक्तिगत स्कोर पर राजेश मोहंती ने कॉट एंड बोल्ड कर अपना शिकार बनाया।

एक छोर पर संभल कर बल्लेबाजी कर रहे बाबुल कुमार का साथ देने आए विकेटकीपर बल्लेबाज विकास रंजन ने 20 रन का योगदान देकर पवेलियन वापस आ गए। सूर्यकांत प्रधान ने क्लीन बोल्ड कर चलता कर दिया उस समय बिहार का कुल स्कोर 43.2 ओबरा में 190 रन था।

226 रन के योग पर बिहार को छठा झटका कप्तान आशुतोष अमन के रूप में लगा जब 6 रन बनाकर राजेश मोहंती का शिकार बने। वहीं एक छोर पर बिहार की पारी का खेवनहार बाबुल कुमार रन गति प्रदान करने में 50वें ओवर की पहली गेंद पर सूर्य प्रधान का शिकार 78 रन के व्यक्तिगत स्कोर पर बने, जिसे शुभ्रांशु सेनापति के हाथों कैच कराकर इस पारी का अंत किया और बिहार निर्धारित 50 ओवरों में 7 विकेट खोकर कुल 255 रन बनाए और जीत के लिए उड़ीसा के सामने 256 रनों का चुनौतीपूर्ण लक्ष्य रखा।

ऋषभ ने 67 रन बनाए, फिर भी यूपी से हारा बिहार

उड़ीसा की ओर से गेंदबाजी कर रहे शांतनु मिश्रा ने 10 ओवरों में 46 रन खर्च कर 3 विकेट झटके। जबकि राजेश मोहंती और सूर्यकांत प्रधान तो दो-दो सफलताएं हाथ लगी। जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी उड़ीसा टीम के सलामी बल्लेबाज कप्तान शांतनु मिश्रा और संदीप पटनायक ने सदी हुई शुरुआत दिलाई और दोनों सलामी बल्लेबाजों ने अपना-अपना अर्धशतक पूरा करते हुए टीम को 124 रनों के स्कोर पर लाकर खड़ा किया तभी बिहार के गेंदबाज राहुल कुमार ने संदीप पटनायक को 64 रन के व्यक्तिगत स्कोर पर क्लीन बोल्ड कर बिहार को पहली सफलता दिलाई।

जनता स्कूल में तेजस्वी की साइकिल दौड़ी, भाजपा का बंक

बिहार को दूसरी सफलता शुभ्रांशु सेनापति के रूप में मिली जब 11 रन के निजी स्कोर पर सकीबुल गनी ने रन आउट कर पवेलियन का रास्ता दिखाया और 171 रन के योग पर उड़ीसा को तीसरा झटका लगा जब तेज गति से रन चुराने की फिराक में सलामी बल्लेबाज कप्तान शांतनु मिश्रा 76 रन के व्यक्तिगत स्कोर पर दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से रन आउट हो गए जिसे अपूर्वा आनंद ने तेजतर्रार क्षेत्ररक्षण करते हुए चलता किया।

बिहार की सारी उम्मीदों पर पानी फेरते हुए उड़ीसा के बल्लेबाज कार्तिक विश्वाल ने नाबाद 46 गेंदों पर 53 रनों की अर्धशतकीय पारी खेली और अंकित यादव ने नाबाद 39 गेंदों पर 43 रन की शानदार पारी खेलते हुए 48.1 ओवरों में 258 रन बनाकर बिहार को 7 विकेट से पराजित कर दिया। बिहार की ओर से गेंदबाज राहुल कुमार को एकमात्र सफलता हाथ लगी।

बिहार का पांचवा और इस राउंड का आखिरी मुकाबला 28 फरवरी को एलुर क्रिकेट स्टेडियम बेंगलुरु में केरल के साथ खेला जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*