या तो अस्पताल बंद कर दें या रामदेव को गिरफ्तार करें : आईएमए

या तो अस्पताल बंद कर दें या रामदेव को गिरफ्तार करें : आईएमए

आईएमए ने बाबा रामदेव को गिरफ्तार करने की मांग की है। बाबा रामदेव का एक वीडियो वायरल है, जिसमें वे लाखों लोगों के मरने की वजह एलोपैथिक दवा बता रहे हैं।

देशभर के डॉक्टरों के संगठन आईएमए (इंडियन मेडिकल एसोसिएशन) ने पहली बार बाबा रामदेव के खिलाफ कड़ा रुख अपनाते हुए ने भारत सरकार से उन्हें गिरफ्तार करने या सारे अस्पतालों को बंद करने की मांग की है। आईएमए ने कहा कि अगर उनकी मांग सरकार ने नहीं मानी, तो वे बाबा के खिलाफ कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे।

मालूम हो कि आज सुबह से सोशल मीडिया पर बाबा रामदेव का एक वीडियो वायरल है, जिसमें बाबा एलोपैथी दवाओं का मजाक उड़ा रहे हैं। यही नहीं बाबा रेमडेसिविर, फेविफ्लू और अन्य दवाओं को फेल बता रहे हैं। कह रहे हैं कि इन दवाओं के कारण लाखों लोग मर गए। जबकि ये दवाएं सेंट्रल ड्रग स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन ( सीडीएससीओ) द्वारा प्रमाणित हैं। इन दवाओं के उयोग के लिए खुद भारत सरकार ने नोटिफिकेशन जारी किया था।

आईएमए ने बयान में कहा कि बाबा रामदेव ने अपने बिजनेस की सफलता के लिए लोगों में भ्रम और भय फैलाया है। उनपर महामारी एक्ट के तहत मुकदमा दायर हो। संगठन ने कहा कि ICMR, AIIMS, DCGG ये सारे भारत के वैज्ञानिक संस्थान हैं, जिन्हें नकारा बताया जा रहा है। आईएमए ने कहा कि देश में डॉक्टर अपनी जान देकर मरीजों को बचा रहे हैं। अबतक 1200 डॉक्टरों ने अपनी जान दी है। खुद जब वे बीमार होते हैं, तो इन्हीं अस्पतालों में चुपके से भर्ती होते हैं।

हिंदू डॉक्टर ने अंतिम सांस ले रहे मरीज के कान में पढ़ा कलमा

आईएमए के प्रेस रिलीज पर संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. जेेए जयालाल तथा महासचिव डॉ. जयेश एम लेले के हस्ताक्षर हैं। संगठन के बयान के बाद अबतक बाबा रामदेव या उनके योग संस्थान की तरफ से कोई बयान नहीं आया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*