ये बिना हाथवाले वसीम शेख हैं, आरोप है कि शोभायात्रा पर पत्थर फेंके

ये बिना हाथवाले वसीम शेख हैं, आरोप है कि शोभायात्रा पर पत्थर फेंके

जहांगीरपुरी से खरगोन तक पुलिस की एकतरफा भूमिका खुलकर लोगों के सामने है। मध्य प्रदेश के ये हैं वसीम शेख। इन पर आरोप है कि इन्होंने शोभायात्रा पर पत्थर फेंके।

वसीम शेख से बड़ा प्रमाण क्या होगा कि भाजपा शासन में पुलिस जानबूझ कर सिर्फ मुसलमानों को निशाना बना रही है। जो हथियार लहरा रहे हैं, मस्जिदों के सामने समुदाय को गाली दे रहे हैं, उन पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है, पर मध्य प्रदेश के वसीम शेख पर हिंदुओं की शोभायात्रा पर पत्थर फेंकने का आरोप लगाकर उनकी गुमटी तोड़ दी गई। इनके दोनों हाथ नहीं हैं।

पत्रकार उमेश कुमार राय ने वसीम की यह तस्वीर शेयर करते हुए लिखा-यह वसीम शेख हैं। मध्यप्रदेश सरकार ने इनकी गुमटी तोड़ दी, क्योंकि आरोप के मुताबिक उन्होंने शोभायात्रा पर ‘पत्थर’ चलाया था। वसीम के दोनों हाथ 2005 मे ही एक हादसे में कट गये थे। सोशल मीडिया पर यह तस्वीर आने के बाद लोग भाजपा सरकार के खिलाफ खूब बोल रहे हैं। यह कैसा सबका साथ-सबका विकास है। अमोघ ने लिखा-शर्मनाक, सरकार ये आरोप भी लगा सकती है कि मन ही मन पत्थर चलाया होगा। मध्य प्रदेश में अस्पताल में भर्ती मरीजों तथा दूसरे प्रदेश में रह रहे अल्पसंख्यक वर्ग के लोगों को आरोपी बना दिया गया है।

दीपक जेथवा ने एक फोटो शेयर किया है, जिसमें भगवा पट्टा लपेटे एक दंगाई हथियार लेकर चल रहा है। दीपक ने लिखा-अपराधियों के साथ खड़े नज़र आओगे तो याद रखना एक न एक दिन वो तुम्हारा गला भी काटेंगे। और तुम्हे बचाने वाला फिर कोई ने होगा।

भाजपा ने नफरत इतनी फैलाई है कि अब कोई अच्छे काम के लिए किसी की सराहना भी नहीं कर सकता। युवा कांग्रेस ने एक भर शेयर की है कि मध्यप्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा की पत्नी स्तुति मिश्रा ने एक मुस्लिम मेडिकल स्टोर की सराहना की, तो हिंदुवादी उन्हें ट्रोल करने लगे। फिर उन्हें वह ट्वीट हटाना पड़ा।

पारू : ‘हिंदू पुत्र’ संगठन ने मचाया उपद्रव, बोले माले विधायक महबूब

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*