जाकिर नाइक ने मीडिया की भद्द पीटी, पूछा मेरी गिरफ्तारी की झूठी खबर के लिए कितने पैसे मिले?

विख्यात धर्म प्रचारक डा. जाकिर नाइक ने भारतीय मीडिया के बेशर्म झूठ की धज्जी उड़ाते हुए उनसे सवाल किया है कि उनके खिलाफ झूठ फैलाने और उन्हें बदनाम करने के लिए उन्हें कौन पैसे देता है?

गौरतलब है कि भारतीय मीडिया के बड़े हिस्से ने यह झूठ फैलाई थी कि जाकिर नाइक को मलेशिया में गिरफ्तार कर लिया गया है और उन्हें भारत लाया जा रहा है. एनडीटीवी, टाइम्स नाऊ, रिपब्लिक टीवी समेत अनेक न्यूज चैनलों ने यहां तक दावा कर दिया था कि नाइक को चार जुलाई को गिरात्फार करके भारत लाया जा रहा है. लेकिन आज सात जुलाई ( शनिवार) तक नाइक न तो भारत लाये जा सके और न ही उनकी गिरफ्तारी की पुष्टि हो सकी है.

इस झूठी खबर फैलाने के बाद जाकिर नाइक ने फेस बुक पर एक वीडियो पोस्ट किया है. शुक्रवार (6 जुलाई की रात) चार मिनट 59 सेकेंड के इस विडियो में नाइक ने कहा है कि एनडीटीवी, टाइम्स नाऊ, रिपब्लिक टीवी  समेत अनेक मीडिया ने मलेशिया में मेरी गिरफ्तारी और चार जुलाई को मुझे भारत लाये जाने की झूठी खबर प्रसारित की. उन्होंने कहा कि भारतीय मीडिया उनके खिलाफ दो साल से झूठ और फेक न्यूज फैलाने के मिशन में लगा है. उन्होंने कहा कि इसकी शुरुआत ठीक दो साल पहले चार जुलाई से शुरू हुई थी, तब ढ़ाका, बांग्लादेश के बम विस्फोट के बाद डेली स्टार नामक अखबार ने खबर छापी थी कि बम विस्फोट से जुड़े एक आतंकवादी ने कहा था कि वह जाकिर नाइक से प्रभावित है. इसके बाद भारतीय मीडिया ने मेरे खिलाफ झूठ की सारी हदें पार करते हुए जहर फलाना शुरू कर दिया. हालांकि डेली स्टार ने दूसरे ही दिन अपनी खबर की गलती मान ली कि जाकिर नाइक से प्रभावित होने वाली खबर का आधार पुख्ता नहीं था. इसके बावजूद भारतीय मीडिया मेरे खिलाफ जहर व नफरत फैलाता रहा.

नाइक ने फेसबुक वीडियो में कुरान का हवाला देते हुए कहा कि अल्लाह ने कुरआन में कहा है कि जब तुम्हें को गंभीर सूचना मिले तो तब तक इसे ना फैलाओ जब तक कि इसकी प्रामाणिकता सत्यापित न हो जाये. उन्होंने कहा कि एक दिन सच की जीत होगी और सच सामने आयेगा. भारत के टीवी चैनलों और अखबार पिछले दो साल से मेरे खिलाफ नफरत व झूठ फैलाने में लगे हैं. इनकी ये तमाम खबरें तथ्यहीन और झूठी हैं. एक दिन सच सामने आयेगा.

नाइक ने कोबरा पोस्ट का हवाला देते हुए कहा कि उसने भारतीय मीडिया के बारे में एक स्टिंग आपरेशन किया था. जिसमें  इसबात के प्रमाण दिये गये थे कि अगर उन्हें पैसे दिये जायें तो वो किसी के खिलाफ कोई खबर प्रसारित या प्रकाशित कर सकते हैं. नाइक ने सवाल किया कि मेरे बारे में झूठी खबर फैलाने के लिए उन्हें कौन पैसे दे रहा है मुझे नहीं मालूम. पर इतना तय है कि सच की जीत होगी. इनशा अल्लाह.

नाइक ने अपने संबोधन की शुरुआत में टाइम्स नाउ, रिपब्लिक टीवी, एनडीटीवी, एबपीन्यूज को उनके बारे में झूठी खबर फैलाने के लिए शुक्रिया अदा किया और कहा कि उनके बेशर्म झूठ से उनका असली चेहरा उजागर हो गया है. इसलिए उन चैनलों का शुक्रिया.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*