इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) के रूप में यासीन भटकल वन मैन आर्मी की तर्ज पर अति उन्नत किस्म के बम बनाने और विस्फोट के लिए उन्हें चुनिंदा जगहों पर रखने का काम खुद किया करता था.yaseen.bhatkal

गुंजन कुमार, नयी दिल्ली से

इस काम में उसके सबसे भरोसे का साथी था उसका ससुर इरशाद। दिल्ली में रहने वाला यासीन का दूसरा ससुर इरशाद विस्फोटक और टाइमर जैसे बम बनाने वाले सामान का इंतजाम करता था।

यासीन से पूछताछ कर रही नेशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी को शक है कि यासीन का भारत में कोई बड़ा आका है जिसे वह बचाने की कोशिश कर रहा है। पूछताछ में यासीन ने यह भी स्वीकारा है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के लेफ्टिनेंट कर्नल रैंक का शख्स इंडियन मुजाहिदीन का हैंडलर है। यासीन ने इस हैंडलर का नाम सालाना बताया है।

यासीन ने एनआईए को बताया है कि आईएसआई का हैंडलर उसके लिए यहां धन का इंतजाम करवाता था। यासीन और उसके साथी असदुल्ला उर्फ हड्डी से पूछताछ कर रही एनआईए के सूत्रों के मुताबिक उसके ससुर इरशाद की दिल्ली के नांगलोई में अपनी फैक्ट्री थी, जिसकी आड़ में वह विस्फोटक, टाइमर जैसे सामान का इंतजाम किया करता था। इसी सामान से यासीन बम बनाता था और अलग-अलग शहरों में विस्फोट करता था।

गौरतलब है कि इरशाद को दिल्ली पुलिस ने कतिल नाम के आतंकी की निशानदेही पर पहले ही गिरफ्तार कर रखा है। लेकिन यासीन इतना शातिर था कि विस्फोटक जैसे सामान लेने के बाद वह कहां जाएगा और कहां धमाके करेगा इसकी खबर किसी को नहीं होती थी। जरूरत पड़ने पर लड़कों का चुनाव यासीन खुद स्थानीय स्तर पर किया करता था।

यासीन के कबूला है कि वह पाकिस्तान और दुबई में छुपे आका आमिर रजा खान, रियाज और इकबाल भटकल आईएसआई के लेफ्टिनेंट कर्नल सालाना से लगातार संपर्क में रहता है।

सूत्रों के मुताबिक भारत में आईएसआई के छुपे हुए गुर्गों के जरिए यासीन के पास पैसा पहुंचाया जाता था.

साभार अमर उजाला डॉट कॉम

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420