2022 में 33 लाख लीटर शराब जब्त, 1.72 लाख हुए गिरफ्तार

2022 में 33 लाख लीटर शराब जब्त, 1.72 लाख हुए गिरफ्तार

2022 में बिहार में 33 लाख लीटर शराब जब्त की गई। शराब खरीदने-बेचने-पीने के आरोप में 1.72 लाख लोग गिरफ्तार। 2021 की तुलना में गिरफ्तारी दोगुना।

वर्ष 2022 में बिहार में शराबबंदी कानून का उल्लंघन करने के मामले में वर्ष 2021 की तुलना में दोगुना से ज्यादा लोग गिरफ्तार हुए हैं। वर्ष 171749 लोगों को शराबबंदी कानून का उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया, जबकि वर्ष 2021 में कुल 82,903 लोग गिरफ्तार हुए थे। वर्ष 2022 में देशी -विदेशी शराब कुल 33 लाख लीटर जब्त किया गया।

बिहार पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार वर्ष 2022 में बिहार मध्य निषेध एवं उत्पाद (संशोधित) अधिनियम- 2018 के अंतर्गत समस्त राज्य में विभिन्न जिलों तथा मद्य निषेध इकाई द्वारा विशेष छापेमारी अभियान चलाया गया, जिसमें कुल 96157 प्राथमिकी अंकित की गई है। अंकित प्राथमिकी में बिहार पुलिस की मद्य निषेध इकाई के द्वारा कुल 610 प्राथमिकी अंकित कराई गई है।

वर्ष 2022 में कुल 171749 अभियुक्तों की गिरफ्तारी की गई और वर्ष 2021 में कुल 82903 गिरफ्तारियां की गई थीं। यदि तुलना करें तो वर्ष 2022 में वर्ष 2021 की तुलना में दोगुने से अधिक गिरफ्तारियां हुई हैं। वर्ष 2022 में हुई कुल गिरफ्तारियां में अकेले मद्य निषेध इकाई द्वारा कुल 1076 गिरफ्तारियां की गईं। इस अभियान में कुल करीब 14,64, 000 लीटर देसी शराब एवं 18, 63, 000 लीटर विदेशी शराब 2022 में कुल 33,00, 000 लीटर से अधिक शराब बरामद की गई। केवल मद्य निषेध इकाई के द्वारा 6, 00076 ली शराब बरामद की गई है।

वर्ष 2022 में कुल 16,988 वाहन जब्त किया गया है। इनमें 364 ट्रक या कंटेनर हैं। अर्थात रोज एक ट्रक जब्त किया गया।

शराब बरामदगी के मामले में ये पांच जिले शीर्ष पर हैं- पटना में 2,98, 495 ली., वैशाली में 237935 ली, मधुबनी में 225844 ली, समस्तीपुर में 165029 लीटर। वहीं सबसे ज्यादा गिरफ्तारी के मामले में पटना में 16440, सारण 9830, बक्सर में 9777, मुजफ्फरपुर में 8595 और नालंदा में 7689 गिरफ्तारियां हुईं।

भारत में विरोध की आवाज दबाई जा रही : US HRs Watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*