अस्पतालों की दुर्दशा पर आक्रामक तेजस्वी से घबराया आईटी सेल

अस्पतालों की दुर्दशा पर आक्रामक तेजस्वी से घबराया आईटी सेल

जब से तेजस्वी ने अपने बंगले को कोविड केयर सेंटर बनाया और जिला अस्पतालों की दुर्दशा पर आक्रामक हुए, उससे भाजपा बेचैन हो गई। आज तेजस्वी के खिलाफ चलाया अभियान।

समस्तीपुर का एक अस्पताल, जहां गाय चर रही है।

तीन दिन से नेशनल मीडिया में तेजस्वी यादव छाए हुए हैं। खासकर जब उन्होंने अपने सरकारी बंगले को कोविड केयर सेंटर के रूप में विकसित करके सरकार को सौंपा, तब से भाजपा बैकफुट पर है। तेजस्वी की पहल को न सिर्फ नेशनल मीडिया ने कवर किया, बल्कि देशभर में लोगों ने सराहना की। #TejashwiYadav ट्रेंड करते रहा। जवाब में सबसे पहले भाजपा सांसद सुशील मोदी सामने आए और अपना बंगला भी सरकार को देने के बजाय तेजस्वी और उनकी बहनों पर पर व्यक्तिगत हमला बोला।

भाजपा सांसद सुशील मोदी ने मदद की पेशकश का स्वागत करने के बजाय जिस तरह तेजस्वी पर निजी हमला किया, उससे बिहार के किसी मरीज का दुख कम नहीं होगा, पर भाजपा का दुख जरूर कम हुआ होगा। भाजपा सांसद के बताए मार्ग पर आज पूरा आईटी सेल सक्रिय है। ट्विटर पर #तेजस्वी_लापता_है ट्रेंड कराया जा रहा है, जिसमें तेजस्वी और उनके परिवार पर निजी हमले किए जा रहे हैं। खबर लिखे जाने तक इस हैशटैग के साथ लगऊग 25 हजार ट्विट हो चुके थे।

पत्रकार तरुण तेजपाल रेप केस से बरी, महिला को कहा थैंक्यु

आईटी सेल ने तेजस्वी के खिलाफ निजी हमले का जो अभियान चलाया है, वह राजद और तेजस्वी को उलझाने के मकसद से ही है। आईटी सेल युवा कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास के खिलाफ भी ऐसा कर चुका है। तेजस्वी को बारे में कहा जा रहा है कि वह नेता नहीं, उद्योगपति हैं। क्रिकेट में भी असफल रहे हैं। तेजस्वी के साथ ही लालू प्रसाद पर भी हमले किए जा रहे हैं। इन हमलों को देखकर कोई भी समझ सकता है कि इनका स्तर भाजपा सांसद सुशील मोदी जैसा ही है। यह न सिर्फ तेजस्वी पर हमला करके उन्हें अपने काम से विमुख करने की कोशिश है, बल्कि उससे कहीं ज्यादा यह बिहार में महामारी और बेकारी से जूझ रही जनता के गुस्से को भ्रमित करने की कोशिश है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*