असम में बर्बरता से खाड़ी के कई देशों में हुई प्रतिक्रिया

असम में बर्बरता से खाड़ी के कई देशों में हुई प्रतिक्रिया

असम में पुलिस फायरिंग में दो व्यक्ति की मौत, लाश पर डांस करने वाली घटना से खाड़ी के कई देशों में प्रतिक्रिया हुई है। भारतीय दूतावास ने की अपील।

सप्ताह भर पहले 23 सितंबर को असम के दरांग में अवैध कब्जा हटाने के नाम पर एक अकेले और निहत्थे व्यक्ति को पुलिस ने गोली मार दी। उसकी वहीं मौत हो गई। घटना में एक 12 साल के किशोर की भी मौत हुई। फिर लाश पर एक फोटोग्राफर ने डांस किया था। इस व्यवहार को जंगली भी नहीं कह सकते, क्योंकि जानवर भी ऐसा नहीं करते। इस घटना की देशभर में निंदा हुई थी, वहीं सोशल मीडिया में पुलिस की कार्रवाई को उचित बतानेवाले भी कुछ लोग थे।

अब इस घटना की प्रतिक्रिया खाड़ी के अनेक देशों में हुई है। कई मुफ्तियों ने दुनिया के अन्य देशों से इस मामले में हस्तक्षेप की अपील की है। वहीं कतर स्थित भारतीय दूतावास ने शांति और भाईचारे की अपील की है।

द वायर के अनुसार कुवैत असेंबली में members of the Kuwait National Assembly इस घटना की निंदा की गई। प्रस्ताव में कहा गया कि मुस्लिमों पर अत्यार के लिए भारतीय प्रशासन और कट्टरपंथी हिंदू संगठन जिम्मेवार हैं।Middle East Monitor के अनुसार असेंबली के सदस्यों ने दुनियाभर के मानवाधिकार संगठनों, मानवतावादियों और इस्लामिक संगठनों से भारत में मुस्लिमों पर अत्यार रोकने के लिए आगे आने की अपील की गई है।

उधर, कतर स्थित भारतीय दूतावास ने फेक न्यूज, छेड़छाड़ किए गए वीडियो और झूटे प्रोपेगैंडा से सावधान रहने के साथ ही भारतीयों से शांति और भाईचारा बनाए रखने की अपील की।

ओमान के सबसे प्रभावशाली मुफ्ती शेख अहमद अली खलीली ने मानवता के नाम पर सभी शांतिप्रिय देशों से भारत में अत्याचार पर रोक लगाने की अपील की। द वायर के अनुसार एक स्टेटमेंट में भारतीय सामग्री के बहिष्कार की अपील की गई है।

एयर इंडिया नीलाम, टाटा के गीत गा रहे भक्त, टिकैत बिगड़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*