बदल रही हवा, कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा महीनाभर पहले 7 से

बदल रही हवा, कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा महीनाभर पहले 7 से

अमूमन विभिन्न दल खास कारणों से अपने आंदोलन, अभियान की तिथि आगे बढ़ा देते हैं। इसके विपरीत कांग्रेस ने अभियान को एक महीना पहले कर दिया। क्या बात है?

तीन महीना पहले कांग्रेस ने अपने उदयपुर घोषणापत्र में 2 अक्टूबर से राष्ट्रव्यापी भारत जोड़ो यात्रा की घोषणा की थी। यह कन्याकुमारी से कश्मीर तक जाएगी। अब कांग्रेस ने यात्रा को लगभग एक महीना पहले ही 7 सितंबर से शुरू करने की घोषणा की है।

अमूमन विभिन्न संगठन या दल अपने कार्यक्रम की तिथि आगे बढ़ा देते हैं। कई बार तैयारी नहीं कर पाने के कारण, कई बार स्थिति अनुकूल नहीं होने की वजह से ऐसा किया जाता है। लेकिन कांग्रेस ने इसके विपरीत भारत जोड़ो यात्रा को एक महीना पहले ही शुरू करने का एलान किया है।

एक महीना पहले ही भारत जोड़ो यात्रा शुरू करने के दो अर्थ हो सकते हैं। पहला, कांग्रेस ने महसूस किया कि केंद्र सरकार के खिलाफ आम जन की नाराजगी बढ़ी है और अक्टूबर में देर हो जाएगी। दूसरी वजह हो सकती है कि कांग्रेस ने अपनी तैयारी के लिए जितना समय सोचा था, उससे कम समय में ही सारी तैयारी हो गई।

पहला कारण राजनीतिक है और ज्यादा महत्वपूर्ण भी। महंगाई, बेरोजगारी के खिलाफ संसद के भीतर और बाहर जिस तरह कांग्रेस ने संघर्ष किया और जिस तरह विपक्षी दलों समेत आम जनता का समर्थन मिला, भाजपा जिस तरह बैकफुट पर नजर आई, उससे कांग्रेस ने महसूस किया होगा कि भाजपा को घेरने का यही समय ज्यादा उचित है। देर करना, भाजपा को संभलने का मौका देना होगा।

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा 3500 किमी लंबी होगी, जो 12 राज्यों और दो केंद्र शासित क्षेत्रों से गुजरेगी। इसमें राहुल गांधी समेत सारे बड़े नेता शामिल होंगे। भारत जोड़ो यात्रा के अध्यक्ष हैं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह। ध्यान रहे कांग्रेस 17 अगस्त से 23 अगस्त तक महंगाई-बेरोजगारी के खिलाफ सड़क पर उतरेगी. छोटी सभाएं करेगी तथा 28 अगस्त को दिल्ली में बड़ी रैली कर रही है।

पीएम के काला जादू बयान पर बोले राहुल-पद की गरिमा गिरा रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*