बजरंग दल के मारे गए हर्ष की बहन की बात सुनें, आखें खुल जाएंगी

गरीब और साधारण घर के लड़कों के दिमाग में दूसरे धर्म के प्रति नफरत फैलाने वालों को सत्ता मिलती है, मारा जाता है गरीब। हर्ष की बहन ने की भावुक अपील।

जो लोग आज की पीढ़ी को धर्मांध और दूसरे धर्म से घृणा करना सिखा रहे हैं, उनमें दो तरह के लोग हैं। कुछ तो विदेशों में हैं, जिनके बच्चे विदेशी उन्नत स्कूलों-कॉलेजों में पढ़ रहे हैं। साथ ही देश के संपन्न लोगों का एक हिस्सा भी है, जिसे 150 रुपए पेट्रोल और 1600 रुपए गैस सिलिंडर से भी कोई परेशानी नहीं होगी। दूसरे तरह के वे लोग हैं, जो युवाओं को नफरती बनाकर सत्ता पाते हैं। उनकी भी चांदी है। मारा जाता है गरीब।

कर्नाटक में हिजाब पहन कर स्कूल में जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया। प्रतिबंध भाजपा की सरकार ने लगाया। स्कूल-कॉलेज के लड़के हिजाब के जवाब में भगवा गमछा लपेटकर हिजाब वाली लड़कियों के सामने जयश्रीराम का नारा लगाने लगे। तनाव बढ़ता गया।

इस बीच बजरंग दल के कार्यकर्ता हर्ष की हत्या हो गई। फिर खास वर्ग के लोगों की दुकानों पर पत्थरबाजी हुई। स्कूल -कॉलेज बंद हो गए। पढ़ाई बंद हो गई। धंधा चौपट हो रहा है। इससे किसे फायदा हुआ और किसे नुकसान? इसे समझने के लिए हर्ष की बहन का वीडियो जरूर देखिए, जो कह रही है कि हिंदू-हिंदुत्व की राजनीति में मेरा भाई मारा गया। वह हाथ जोड़कर हिंदू-मुस्लिम सभी से भावुक होकर विनती कर रही है कि इस नफरती आंधी से बचिए। धर्म की राजनीति में मत फंसिए। ये है वीडियो-

लेखक देवदत्त पटनायक ने महत्वपूर्ण बात कही। कहा-वह महिला जो ट्रोल करने के लिए प्रोत्साहित करती है। वह अमेरिका में रहती है। उसके बच्चे अच्छे अच्छे स्कूलों में पढ़ते हैं। उसका पति अमीर है। तुम भारत में हो, गरीब सतर्क रहो । इन चालाक लोगों के लिए शहीद मत बनो।

तुम गरीब रहोगे। दंगों में मरोगे, सिर पर तिलक लगाके। उस हिजाब के नीचे तुम अशिक्षित रहोगे। तुम्हारे महान “नेता” को वोट मिलेगा, कुर्सी मिलेगा। धन भी वकीलों और न्यायाधीशों का समर्थन भी । उनके बच्चे विदेश में पढ़ेंगे। तुम सड़ जाओगे। तो सतर्क रहो।

आप अपने मंदिर से खुश हैं, है ना? पुजारी वहां पैसा कमाएगा। भिखारी भी। और फूल बेचने वाला। इसके निर्माता के सम्मान में एक मूर्ति बनेगी। मंदिर में छवियों से बड़ा। आप? आप बेरोजगार घूमेंगे, प्रार्थना करते हुए।

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420