बिहार में 23 सीटों पर संशय, ललन सिंह बोले 15 दिनों में होगा बंटवारा

बिहार में 23 सीटों पर संशय, ललन सिंह बोले 15 दिनों में होगा बंटवारा

बिहार में 23 सीटों पर संशय, ललन सिंह बोले 15 दिनों में होगा बंटवारा। जदयू अध्यक्ष बोले सीट बंटवारे में कोई परेशनी नहीं। पटना रैली में जुटेंगे देशभर के नेता।

इंडिया गठबंधन की बैठक के बाद जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने बुधवार को कहा कि 2024 लोकसभा चुनाव के लिए बिहार में सीटों के बंटवारे को लोकर कोई परेशानी नहीं है। 15 दिनों के भीतर सर्वसम्मति से सीटों का बंटवारा हो जाएगा। इसके बाद देशभर में इंडिया गठबंधन की रैली होगी। पटना में फरवरी में रैली हो सकती है। उसमें देशभर के तमाम प्रमुख नेता शामिल होंगे।

बिहार में इंडिया गठबंधन में अब तक कोई बड़ी खींचतान नहीं देखी गई है, इसीलिए माना जा रहा है कि यहां सीटों के बंटवारे पर खास परेशानी नहीं होगी, फिर भी 23 ऐसी सीटें हैं, जिस पर देखना होगा कि गठबंधन किस प्रकार बंटवारा करता है।

प्रदेश में लोकसभा की 40 सीटें हैं, जिनमें 2019 में भाजपा को 17, जदयू को 16 , लोजपा को छह तथा कांग्रेस को एक सीट मिली थी। पिछले चुनाव में राजद को एक भी सीट नहीं मिली थी, लेकिन प्रायः वह हर सीटों पर दूसरे नंबर पर रहा था। पिछले विधानसभा चुनाव को देखें तो जनाधार और वोट प्रतिशत के मामले में राजद सबसे आगे हैं।

सीटों के तालमेल में पहले यह देखा जाएगा कि किस सीट पर पहले से किसका कब्जा है। इस आधार पर कांग्रेस की एक तथा जदयू की 15 सीटों तय मानी जा सकती हैं। असल मामला भाजपा की जीती 17 तथा लोजपा की छह सीटों यानी 23 सीटों का क्या होगा, कि उनमें कहां से कौन लड़ेगा। गठबंधन में राजद और जदयू के अलावा कांग्रेस तथा वाम दल भी हैं।

पिछली बार भाजपा और लोजपा जहां से जीती है, अधिकतर उन्हीं सीटों पर राजद और वाम दलों को लड़ना होगा। हां, कुछ सीटों की अदला-बदली भी हो सकती है। 23 सीटें हैं पटना, पाटलिपुत्र, आरा, बक्सर, सासाराम, औरंगाबाद, दरभंगा, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, छपरा, महाराजगंज, पू. चंपारण, बेगूसराय, जमुई, खगड़िया, नवादा हाजीपुर, शिवहर, उजियारपुर, समस्तीपुर हैं।

न बिजली न शॉर्ट सर्किट, जल गईं 800 EVM, यूपी में हंगामा