बिहार में एक साल में 220 Naxals गिरफ्तार, मुठभेड़ में 6 मरे

बिहार में एक साल में 220 Naxals गिरफ्तार, मुठभेड़ में 6 मरे

बिहार पुलिस ने वर्ष 2021 में नक्सलियों के खिलाफ कई बड़े अभियान चलाए। एक वर्ष में 220 Naxals को गिरफ्तार किया। इस दौरान मुठभेड़ में 6 नक्सली मारे गए।

बिहार पुलिस की सक्रियता के कारण प्रदेश में नक्सली सिमटते गए हैं। वर्ष 2021 में भी बिहार पुलिस को नक्सल विरोधी अभियान में कई बड़ी सफलताएं मिलीं। एक वर्ष में बिहार पुलिस के साथ नक्सलियों की पांच मुठभेड़ हुई। इन मुठभेड़ों में छह नक्सली मारे गए। बिहार पुलिस ने अपने विभिन्न अभियानों के दौरान 220 नक्सलियों को गिरफ्तार किया।

बिहार पुलिस ने नक्सलियों से सात ऐसे हथियार जब्त किए, जिन्हें उन्होंने पुलिस से लूट लिया था। पुलिस ने नक्सलियों के 20 हथियार भी जब्त किए। 890 कारतूस भी जब्त किए। इस दौरान बड़ी मात्रा में बम बनाने की सामग्री भी जब्त की। पुलिस ने 1481 किग्रा विस्फोटक सामग्री पकड़ी। 772 डेटोनेटर बरामद किए। पुलिस ने 52 केन बम भी बरामद किए। बिहार पुलिस ने 21320 रुपए भी नकद बरामद किए।

वर्ष 2021 में विशेष कार्य बल (एसटीएफ) को भी कई बड़ी सफलताएं मिलीं। एसटीएफ की अपराधियों और नक्लियों से छह मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में दो अपराधी मारे गए, जिनमें एक पर 50 हजार रुपए का इनमा भी था। इसने 16 हथियार बरामद किए जिनमें दो एके-47 हथियार थे। एसटीएफ ने अपनी कार्रवाई के दौरान 2385 ग्राम सोना भी बरामद किया। एसटीएफ ने 1,79,59,660 रुपए भी बरमाद किए।

बिहार पुलिस की लगातार कार्रवाई और बिहार सरकार की विभिन्न योजनाओं का परिणाम है कि राज्य में नक्सली गतिविधियां लगातार सिमटती गई हैं। अब इनका थोड़ा-बहुत प्रभाव झारखंड से सटते जिलों में ही रह गया है। नक्सली गतिविधियों के खिलाफ पुलिस की मुस्तैदी के कारण ही इस दौरान बिहार पुलिस को कोई नुकसान नहीं हुआ, बल्कि लगातार नक्सली ही निशाने पर रहे। बिहार पुलिस का अभियान वर्ष 2022 में भी पहले की तरह जारी रहेगा।

छोटा पायजामा, लंबा कुर्ता…पर चुनाव अधिकारी का BJP को नोटिस