BJP की भविष्यवाणी गलत हुई, तेजप्रताप सस्ते में लगे किनारे

BJP की भविष्यवाणी गलत हुई, तेजप्रताप सस्ते में किनारे लगे

भाजपा की एक भविष्यवाणी गलत साबित हो रही है। उसके नेताओं को उम्मीद थी कि राजद में दो भाइयों में महाभारत होगा। तेजप्रताप स्टार प्रचारकों की सूची से बाहर।

लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव ने राजद के आंतरिक मामलों पर जब-जब कोई विवादास्पद बयान दिया, उन्हें भले ही राजद के भीतर से कोई समर्थन नहीं मिला, लेकिन भाजपा के नेता हमेशा आगे आकर समर्थन देते रहे हैं। चार दिन पहले जब तेजप्रताप यादव ने कहा कि उनके पिता को बंधक बनाकर रखा गया है, तो राजद के किसी नेता ने समर्थन नहीं किया, लेकिन पूर्व उप मुख्यमंत्री और भाजपा सांसद सुशील कुमार मोदी तुरत समर्थन में आए। उन्होंने कहा कि तेजप्रताप के आरोप को हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए।

भाजपा के कई नेता और राजनीतिक विश्लेषक मानते रहे हैं कि तेजप्रताप और तेजस्वी में महाभारत होगा और राजद बर्बाद हो जाएगा, लेकिन यह इच्छा या भविष्यवाणी पूरी होती नहीं दिख रही।

आज राजद ने प्रदेश में दो विधानसभा क्षेत्रों में हो रहे उपचुनाव के लिए स्टार प्रचारकों की सूची जारी कर दी। इस सूची में तेजप्रताप यादव का नाम नहीं है। राजद में दो भाइयों में महाभारत तो दूर, पार्टी में किसी नेता ने इस पर अबतक सवाल भी नहीं उठाया है।

कल ही राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने बड़ी बात कही। उन्होंने कहा कि तेजप्रताप अब पार्टी में हैं कहां। वे खुद ही अलग हो गए हैं। अपना अगल संगठन बना रहे हैं। आज राजद ने तेजप्रताप को स्टार प्रचारकों की सूची से बाहर करके एक तरह से शिवानंद तिवारी की बातों की पुष्टि कर दी है।

पूरी पार्टी तेजस्वी यादव के साथ खड़ी नजर आ रही है। दो दिन पहले लालू प्रसाद ने राजद नेताओं को ऑनलाइन संबोधित किया, उसमें भी उन्होंने तेजस्वी के प्रयासों की सराहना की।

वरुण गांधी भाजपा कार्यसमिति से बाहर हुए, कांग्रेस में जाएंगे?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*