BJP में छटपटी, बिहार के नुकसान की भरपाई दक्षिण से नहीं : ललन

BJP में छटपटी, बिहार के नुकसान की भरपाई दक्षिण से नहीं : ललन

भाजपा का आरोप गुंडा राज लौट आया। जवाब में ललन सिंह बोले 2024 में बिहार, बंगाल, झारखंड से ही भाजपा की 40 सीटें कम हो जाएंगी। इसीलिए उनमें छटपटी है।

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने दिल्ली में पत्रकारों से बात करते हुए समझाया कि किस प्रकार केवल बिहार, बंगाल और झारखंड से ही 2024 में भाजपा की कम से कम 40 लोकसभा सीटें कम हो जाएंगी। आज भाजपा के लोकसभा सदस्यों की संख्या 303 है। इसमें 40 घटा दीजिए, तो भाजपा सत्ता से बाहर हो जाती है। पत्रकार ने पूछा था कि भाजपा कह रही है कि बिहार में जंगल राज लौट आया है। इसी के जवाब में ललन सिंह ने समझा दिया कि किस प्रकार भाजपा 2024 में नहीं लौट रही है।

ललन सिंह ने पूछा कि आजकल भाजपा नेता दक्षिण भारत बार-बार क्यों जा रहे हैं। उत्तर भी दिया कि बिहार-बंगाल-झारखंड से जो उन्हें नुकसान हो रहा है, उसकी भरपाई के लिए वे बार-बार दक्षिण भारत जा रहे हैं। लेकिन वहां से भी भरपाई नहीं होने जा रही है। बंगाल में इन्हें लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवार नहीं मिलेगा। जिसको तोड़कर लाए थे, सभी वापस तृणमूल में चले गए। बिहार में इनके 17 सांसद हैं। अगली बार एक जीत जाएं, तो बहुत है। झारखंड में इनके 14 हैं। वहां से भी घटेंगे।

2024 में भाजपा की सीटें हर प्रदेश से कम होंगी। यूपी में उन्हें अधिकतम मिल चुकी है। अब वहां विपक्ष पहले से ज्यादा मजबूत है। वहां भी सीटें कम होंगी। दिल्ली, राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और गुजरात में भी भाजपा की सीटें कम होने जा रही हैं। इस बार भरपाई करना मुश्किल है।

ललन सिंह से पत्रकार ने पूछा था कि भाजपा से अलग क्यों हुए। जवाब में जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा नेता बयान दे रहे थे कि हम बड़े भाई हैं। नीतीश कुमार छोटा भाई हैं। हमारा एहसान है कि उन्हें मुख्यमंत्री बनाया। बार-बार हमारे नेता को अपमानित किया जा रहा था। अटल जी के साथ हमने 17 वर्ष निभाया। इनके साथ भी पांच वर्ष निभाया, लेकिन इन्होंने मजबूर कर दिया।

गुंडा राजा आया है पूछने पर कहा कि कोई गंडा राज नहीं आया है। ये दुष्प्रचार करते रहे। जनता इन्हें 2024 में बता देगी कि गंडा राज है आया है कि आप जैसे लोगों को विदा करना है।

अभी मंत्रियों ने शपथ भी नहीं ली, शुरू हो गई BJP, RJD का पलटवार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*