भाजपा नेताओं की परेशानी बढ़ी, दिखानी होगी RT-PCR रिपोर्ट

भाजपा नेताओं की परेशानी बढ़ी, दिखानी होगी RT-PCR रिपोर्ट

बार-बार प. बंगाल जानेवाले भाजपा नेताओं की परेशानी बढ़ गई है। ममता ने कहा, बाहर से आनेवाले सभी लोगों को दिखानी होगी RT-PCR निगेटिव रिपोर्ट।

प. बंगाल में मुख्यमंत्री पद की तीसरी बार शपथ लेते ही ममता बनर्जी ने कोविड-19 पर नियंत्रण पाने के लिए ताबड़तोड़ कई फैसले लिए। इन फैसलों में एक ऐसा फैसला है, जिससे भाजपा के केंद्रीय नेताओं की परेशानी बढ़ गई है। ममता ने कहा है कि बाहर से आनेवाले सभी लोगों को आरटी-पीसीआर निगेटिव रिपोर्ट देनी होगी। जिनके पास ऐसी रिपोर्ट नहीं होगी, उन्हें 14 दिनों तक क्वारेंटाइन रहना होगा, जिसका खर्च भी उन्हें ही देना होगा।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने स्पष्ट कर दिया है कि यह फैसला सभी पर लागू होगा, चाहे वह कितना ही बड़ा आदमी क्यों न हो। उन्होंने कहा कि अगर कोई प्राइवेट विमान से आता है, तब भी उसे निगेटिव रिपोर्ट देनी होगी। उन्होंने स्पष्ट कहा कि अगर बाहर से मंत्री आते हैं, तो उन पर भी यही नियम लागू होगा, चाहे वे निजी विमान से ही क्यों न आएं। वे पहले भी कहती रही हैं कि भाजपा नेता बाहर से आकर कोरोना फैला रहे हैं।

ब्रिटिश अखबार ने सेंट्रल विस्टा को दानवी स्मारक बताया

ममता सरकार के इस फैसले से भाजपा के बड़े नेताओं की परेशानी बढ़ गई है। अभी वे बिना रोक-टोक हवाई जहाज से कोलकाता पहुंचते हैं। प्रेस कॉन्फ्रेंस करना हो या धरना देना हो, बार-बार कई नेता कोलकाता पहुंचते हैं। अब उन्हें कोरोना जांच करा कर ही जाना होगा। ममता सरकार का यह फैसला खासकर उन चार राज्यों से आनेवाले लोगों पर लागू होगा, जहां कोरोना के ज्यादा मामले हैं। ये राज्य हैं-दिल्ली, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़।

जो नीतीश न कर सके, वो सोरेन ने किया, पीएम को दिखाया आईना

मालूम हो कि मुख्यमंत्री पद का शपथ लेते ही कोरोना पर नियंत्रण के लिए ममता बनर्जी ने कई फैसले लिये। उन्होंने लोकल ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया है। बाहर से आनेवाले लोगों पर नजर रखी जा रही है। उन्होंने आंशिक लॉकडाउन की घोषणा के साथ ही गरीबों को मुफ्त राशन देने को अपनी प्राथमिकता बताया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*