छौड़ादानो में भ्रष्टाचार विरोधी कार्यकर्ता को जान से मारने की धमकी

छौड़ादानो में भ्रष्टाचार विरोधी कार्यकर्ता को जान से मारने की धमकी

छौड़ादानो में भ्रष्टाचार विरोधी कार्यकर्ता को फोन पर जान से मारने की धमकी दी गई। प्रधानमंत्री आवास योजना, नली-गली में भ्रष्टाचार के खिलाफ उठाई थी आवाज।

पूर्वी चंपारण के छौड़ादानो में भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठानेवाले सामाजिक कार्यकर्ता रेयाज अहमद अंसारी को जान से मारने की धमकी दी गई है। उन्हें यह धमकी फोन पर दी गई। पुलिस में शिकायत के 24 घंटे बाद तक पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है।

रेयाज ने नौकरशाही डॉट कॉम को बताया कि छौड़ादानो प्रखंड में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है। प्रधानमंत्री आवास योजना से लेकर गली-नाली निर्माण तथा मनरेगा कार्य में जमकर फर्जीवाड़ा हो रहा है। उन्होंने प्रखंड की दरपा पंचायत में प्रधानमंत्री आवास योजना में फर्जीवाड़ा तथा जीतपुर पंचायत में नाला निर्माण तथा रिंग बांध का मुद्दा उठाया। फर्जीवाड़े की शिकायत करते हुए प्रखंड विकास पदाधिकारी को आवेदन दिया, लेकिन किसी भी मामले में जांच नहीं की गई। कार्रवाई के विपरीत गलत तरीके से मामले को दबाया जा रहा है।

इसी बीच 28 मार्च को उन्हें फोन करके जान से मारने की धमकी दी गई। रेयाज ने कहा कि उन्हें कभी भी यह लोग गोली मार सकते हैं। 28 मार्च को 11:06 पर मेरे मोबाइल पर मोबाइल नंबर 91133 90774 से धमकी दी गई। धमकी देनावाले का नाम राजेश यादव, पिता हरिचरण राय है। वह वार्ड नंबर 5, जीतपुर पंचायत का निवासी है। उस पर अपहरण, डकैती तथा मारपीट में कई मुकदमे हैं।

रेयाज ने कहा कि सफेदपोश पदाधिकारी के इशारे पर मुझे रास्ते से हटाने का जाल बुना जा रहा है। उन्होंने पुलिस प्रशासन से मामले में शीघ्र कार्रवाई करने की मांग की है। रेयाज ने कहा कि राज्य की नीतीश सरकार भ्रष्टाचार के मामले में जीरो टॉलरेंस की बात करती है और जब उनके जैसे सामाजिक कार्यकर्ता विकास कार्यों में भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाते हैं, तो इस तरह से धमकी दी जाती है। उन्होंने पुलिस प्रशासन से मामले में जल्द कार्रवाई की मांग की है।

दिल्ली में केजरीवाल के घर हमला, पंजाब में कांग्रेसी की पीटकर हत्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*