चुनाव खर्च के बाद बच गए रुपए, तो पार्टी ने चंदा देनेवालों को लौटाया

चुनाव खर्च के बाद बच गए रुपए, तो पार्टी ने चंदा देनेवालों को लौटाया

चुनाव खर्च के बाद बच गए रुपए, तो पार्टी ने चंदा देनेवालों को लौटाया। देश में चुनाव में पानी की तरह धन बहाने वाले दलों को मिजोरम की पार्टी ने दिखाया आईना।

जब देश में चुनावों में बेतहाशा धन पानी की तरह बहाया जा रहा है, तब मिजोरम की एक पार्टी ने देश के सामने सादगी और ईमानदारी का एक उदाहरण पेश किया है। चुनाव प्रचार के लिए पार्टी ने प्रत्याशियों तथा समर्थकों से चंदा लिया था, लेकिन चुनाव संपन्न होने के बाद रुपए बच गए, तो पार्टी ने लाखों रुपए चंदा देनेवालों प्रत्याशियों तथा समर्थकों को वापस लौटा दिया। सिर्फ एक जिले इस पार्टी ने 66 हजार रुपए लोगों को लौटा दिए। चंदे की राशि हर जिले में लौटाई गई है, जो लाखों में हैं।

द हिंदू की खबर के मुताबिक मिजोरम की एक पार्टी जोराम पीपुल्स मूवमेंट (Zoram People’s Movement- ZPM) ने भी राज्य विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी उतारे थे। सात नवंबर को मोजरम में चुनाव संपन्न हो चुका है। अब पार्टी ने चुनाव लड़ने के बाद जो रुपए बचे, उसे चंदा देनेवालों को लौटा रही है। दो दिन पहवे 27 नवंबर को ZPM की चानमारी तथा हंथर इकाई ने क्रमशः सात हजार तथा 59 हजार रुपए अपने प्रत्याशी के सपदांगा को लौटा दिए। सपदांगा आईजॉल3 से पार्टी के प्रत्याशी थे। चानमारी तथा हंथर आईजॉल शहर की दो कॉलोनियां हैं।

खबरों में बताया गया है कि जोराम पूपुल्स मूवमेंट की हर ईकाई ने जौ भी पैसा बचा उसे चंदा देनेवालों को लौटाया है। पार्टी ने कहा कि यह हमारे लिए कोई नई बात नहीं हैं, बल्कि मिजोरम की पुरानी परंपरा रही है। यह परंपरा हाल के वर्षों में विलुप्त सी हो गई थी। इसे हमेने फिर से जिंदा किया है। पार्टी के प्रमुख नेता तथा मुख्यमंत्री पद के दावेदार IPS अधिकारी रह चुके लाल दुहोमा ने कहा कि हमने चुनाव शुरू होने के समय ही वादा किया था कि चुनाव प्रचार से जोभी पैसा बचेगा, वह चंदा देनेवाले को लौटा दिया जाएगा। पार्टी ने अमूमन प्रत्याशियों से ही चंदा लिया था।

स्कूलों में छुट्टी पर महाझूठ और उन्माद फैला कर चुप हो गए अखबार