दुविधा : लोग कहते सपने देखो, डॉक्टर कहते लो साउंड स्लीप : IPS

दुविधा : लोग कहते सपने देखो, डॉक्टर कहते लो साउंड स्लीप : IPS

IPS सूरज सिंह परिहार के ट्वीट खास अर्थ लिये होते हैं। उन्होंने एक अजीब कशमकश की ओर ध्यान दिलाया। लोग कहते हैं सपने देखो, डाक्टर कहते हैं साउंड स्लीप लो।

छत्तीसगढ़ के आईपीएस अधिकारी और गवर्नर के एडीसी सूरज सिंह परिहार के ट्वीट आपको सोचने पर मजबूर करते हैं। कई बार देखने में हल्के-फुल्के होते हैं, पर दरअसल उसमें भी गहरे अर्थ होते हैं। उन्होंने एक ट्वीट किया- बड़ी अजीब सी कश्मकश है! लोग कहते हैं सपने देखो, डॉक्टर कहता है साउंड स्लीप लो !! 6-7 घंटे में क्या क्या कर लें?

देखा जाए तो लोग और डॉक्टर दोनों सही हैं। दोनों अपनी-अपनी जगह सही हैं। हां यह तय करना होगा कि कब सपने देखें और कब अच्छी नींद लें। दरअसल, लोग जिन सपनों की बात करते हैं वह रात में अर्धनिद्रा में नहीं, दिन में सोच के स्तर पर लिये जाते हैं। फिर सपने को पूरा करने के लिए योजनाएं बनानी पड़ती हैं, पहल करनी पड़ती है। कदम बढ़ाने पड़ते हैं। किसी सपने को पूरा करने के लिए जो समर्पण चाहिए, उसके लिए अच्छी नींद भी जरूरी है।

उनका एक और ट्वीट है-मनुष्य को सबसे ज्यादा प्रेम करने वाले ‘ विवेक ‘ से ही आजकल मनुष्य सबसे कम प्रेम कर रहा है। विवेक के मानव प्रेम की बानगी/मिसाल तो देखिए, “जब नाश मनुज पे छाता है, पहले विवेक मर जाता है! उनका एक ट्वीट है-गुरूर में इंसान को कभी इंसान नहीं दिखता जैसे छत पर चढ़ जाओ तो अपना मकान नहीं दिखता। आईपीएस परिहार ने क्या बात कही है। यह गुरूर राजा, मंत्री, कर्मी किसी को भी हो सकता है। यहां तक कि यह साधारण व्यक्ति में बी हो सकता है, जिसका नुकसान उसे उठाना ही पड़ेगा। आश्चर्य यह है कि भारत की पौराणिक कथाओं, शास्त्रों में सबसे ज्यादा अहंकार छोड़ने पर बात की गई है। जितनी बातें की गई हैं, उतनी यूरोपीय कथाओं में नहीं मिलते, लेकिन सबसे ज्यादा इससे पीड़ित भी अपना देश ही है।

खास कथा शैली के कारण हमेशा याद रहेंगे हुसैनुल हक़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*