गोडसे समर्थक अंधभक्तों की बोलती बंद, UN में लगी गांधी की प्रतिमा

गोडसे समर्थक अंधभक्तों की बोलती बंद, UN में लगी गांधी की प्रतिमा

हम अजीब दौर में रह रहे, जहां भारत में गोडसे समर्थक महात्मा गांधी को गाली दे रहे। उधर UN मुख्यालय में लगी उनकी प्रतिमा। विदेश मंत्री भी रहे साथ।

भले ही अंधभक्त महात्मा गांधी के खिलाफ देश में नफरत फैलाएं, लेकिन यूएन ने एक बार फिर महात्मा गांधी के विचारों को दुनिया के लिए जरूरी बताया है। इसीलिए यूएन मुख्यालय में उनकी प्रतिमा का अनावरण किया गया। अनावरण करनेवाल खुद विदेश मंत्री अस जयशंकर थे।

संयुक्त राष्ट्र के सेक्रेटरी जेनरल एंटिनियो गुटरेस ने कहा कि यूएन मुख्यालय में महात्मा गांधी की प्रतिमा दुनिया को उनके विचार याद दिलाती रहेगी। गुटरेस ने ट्वीट किया-महात्मा गांधी शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व, भेदभाव के खिलाफ तथा बहुलवाद (pluralism) के समझौताहीन पैरवीकार थे। यूएन मुख्यालय में उनकी प्रतिमा उनके विचारों के प्रति दुनिया को आगाह करती रहेगी।

यूएन मुख्यालय में महात्मा गांधी की प्रतिमा लगाने पर देश में गोडसे समर्थकों की बोलती बंद है। पत्रकार प्रशांत टंडन ने कहा-यूएन के मुख्यालय में गांधी की मूर्ति लगाई गई है। इतिहास के कितने अजीब दौर से होकर हम गुज़र रहे हैं। जीवन भर गांधी जिन साम्राज्यवादी शक्तियों से लड़े वहां के लोग अब गांधी को समझे और उनसे प्यार करते हैं, जिनके लिए गांधी जीवन भर लड़े उन्होंने गांधी के हत्यारों को ही चुन लिया।

लेखक अशोक कुमार पांडेय ने गोडसे समर्थकों पर तीखा हमला करते हुए कहा-संयुक्त राष्ट्र संघ में महात्मा गांधी की मूर्ति लगाई गई। और यहां तिलचट्टे उन्हें बदनाम करने में लगे हैं। डॉ. चायानिका उनियाल ने लिखा-महात्मा गांधी से भारत की विश्व में पहचान है और उस पहचान का लोहा पूरे विश्व ने माना है।और आज संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय न्यूयॉर्क में विदेश मंत्री एस. जयशंकर और संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस की मौजूदगी में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण किया गया है।

कांग्रेस ने कहा-संयुक्त राष्ट्र कार्यालय में महात्मा गांधी की प्रतिमा लगाई गई है। ये है गांधी की ताकत। आज गोडसे प्रेमी संघियों के लिए दर्द भरा दिन है।