इश्तियाक ने चंपारण में मंदिर के लिए दान में दी 2.5 करोड़ की जमीन

इश्तियाक ने चंपारण में मंदिर के लिए दान में दी 2.5 करोड़ की जमीन

पूर्वी चंपारण में बन रहे दुनिया के सबसे बड़े मंदिर के लिए इश्तियाक अहमद ने अपनी 2.5 करोड़ रुपए की जमीन दान में दे दी। देश का नफरती गैंग दुबका।

देश में मुस्लिम ठेले वाले से फल नहीं खरीदने की सलाह देनेवाले नजर नहीं आ रहे। पूर्वी चंपारण के कैठवालिया में दुनिया का सबसे बड़ा रामायण मंदिर बन रहा है। इसके केंद्र में पटना महावीर मंदिर के प्रमुख प्रबंधक किशोर कुणाल हैं। कल शाम चंपारण के इश्तियाक अहमद ने अपनी 2.5 करोड़ की जमीन चंपारण में निर्माणाधीन मंदिर के नाम दान कर दी। उन्होंने दान के कागजात किशोर कुणाल को सौंप दिए। इस अवसर पर बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

किशोर कुणाल ने मंदिर प्रांगण में इश्तियाक अहमद खान को सम्मानित किया। उन्होंने यह भी घोषणा की कि इश्तियाक अहमद खान को रामायण मंदिर की कमेटी में रखा जाएगा।

इश्तियाक अहमद के इस कदम की खूब सराहना हो रही है। हां, जो नफरती गैंग है, वह परेशान है। धार्मिक उन्माद फैलानेवाले दुबक गए हैं। इश्तियाक अहमद का यह कदम इतिहास में दर्ज हो गया है। गंगा-जमुनी तहजीब और भाईचारे की मिसाल के रूप में हमेशा याद किया जाएगा। इश्तियाक का यह कदम उन लोगों के लिए संबल का काम करेगा, जो नफरती गैंग के खिलाफ गांधी के अल्ला-ईश्वर एक ही है के विचारों पर देश में भाईचारे के लिए काम करते हैं।

पटना जैन संघ के अध्यक्ष और गांधीवादी प्रदीप जैन भी पटना महावीर मंदिर से जुड़े हैं। वे मंदिर के हर कार्यक्रम में शामिल रहते हैं। जब पटना महावीर मंदिर में अयोध्या के एक महंत ने हस्तक्षेप की कोशिश की, तो उस समय भी प्रदीप जैन ने आगे बढ़ कर इस पर आपत्ति जताई थी। उन्होंने नौकरशाही डॉट कॉम को बताया कि पटना का महावीर मंदिर पूजा और सेवा का केंद्र है। यहां आनेवाले भी शांति से लाइन में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार करते हैं। कोई हो -हल्ला नहीं, कोई हंगामा नहीं। यहां कभी किसी ने दूसरे को पीड़ा पहुंचानेवाला नारा लगते नहीं सुना। उन्होंने इश्तियाक अहमद को भाईचारे की मिसाल कायम करने के लिए बधाई दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*